जमशेदपुर-ईचागढ के विधायक साधुचरण महतो करेगे जलसत्याग्रह

74

 

जमशेदपुर।2 मार्च

स्वर्णरेखा के विस्थापति की मुआवजा की मांग ईचागढ केविधायक साधु चरण महतो के द्वारा जलसत्याग्रह किया जाएगा।इस बात की जानकारी ईचागढ के विधायक साधु चरण महतो ने  बुधवार को निर्मलगेस्ट मे स्वर्णरेखा के विस्थापितो के साथ बैठक के बाद पत्रकारो को दी।उन्होने स्वर्णरेखा परियोजना को चारा घोटाला से बड़ा घोटाला बताया। उन्होने इसकी जांच सी बी आई से कराने की मांग की है। उन्होने कहा कि स्वर्णरेखा परियोजना के विस्थापितो मे कुछ लोगो की ही नौकरी मिला कुछ तो आज भी मुआवजा के लिए दर दर भटक रहे हैं। उन्होने कहा कि  काग्रेस सरकार ने विस्थापितो के लिए कुछ नही किया ।खाली घोषणा हूई है तीन बार पूर्नवास निती बना लेकिन कुछ नही हुआ । उन्होने कहा कि अगर कोई विस्थापित के बारे मे सोचा है तो भाजपा सरकार ने ही सोचा है। उन्होने कहा कि 129 हजार करोड़ की योजना आज  6613 हजार करोड़ योजना हो गई। कार्य आज तक पूर्ण नही हुआ ।लेकिन फंड की राशी बढती गई ।  उन्होने कहा कि इस योजना की जांच होनी चाहिए।यह योजना चारा घोटालो से बड़ा घोटाला है। इस योजना मे सिर्फ अधिकारीयो ने पैसा कमाया है। उन्होने कहा कि विस्थापितो को भी मुआवजा मिले। विधायक ने कहा कि स्वर्णरेखा परियोजना के विस्थापितो के लिए मुआवजा की राशि को लेकर विधानसभा मे प्रशन काल मे सवाल उठाना था लेकिन विधानसभा के भंग हो जाने के कारण सवाल नही उठा पाया ।

उन्होनेकहा कि इस योजना से करीब 25 हजार से भी अघिक परिवार विस्थापित हुए है।करीब 13771 लोगो को मुआवजा की राशी अभी तक नही मिली है। उन्होने कहा कि इस परियोजना से विस्थापितो को मिलने वाले राशी तीन बार रिव्यु किया गया।उन्होने कहा कि स्वर्णरेखा परियोजना से विस्थापित परिवारो का मुआवजा राशी को बढाया जाए। इन्ही सब मांगो को लेकर 7 मार्च को चाण्डिल बांध विस्थापित मंच के द्वारा चाण्डिल डैम मे जलसत्याग्रह किया जाएगा। इस जलसत्याग्रह नें एक हजार से भी ज्यादा विस्थापित रहेगे। और इनके समर्थन मे मै भी जलसत्याग्रह मे शामील रहुंगा। उन्होने कहा कि सरकार इस मामले मे हस्तक्षेप करे और स्वर्णरेखा परियोजना मे विस्थापितो होने वाले परिवार के साथ न्याय करे।

 

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More