चाईबासा –जिला पुलिस को मिली सफलता, कुख्यात नक्सली सोना राम सुंडी पकङाया

 

संवाददाता,जमशेदपुर,13 जनवरी

 

राज्य सरकार के द्वारा नक्सलियों से निपटने के लिए ऑपरेशन ‘कारो-2Ó की प्लानिंग की गई है. इसके तहत पश्चिम सिंहभूम जिला पुलिस ने भी अभियान चलाया और नक्सलियों के खिलाफ कार्रवाई की. इस अभियान में पुलिस के हाथ एक बड़ी सफलता भी लगी. इसके अरेस्ट होते ही कई मामलों के साथ ही पिछले दिनों सारंडा के रोरो माइंस के पास से माइनिंग ऑफिसर की अपहरण मामले का भी खुलासा हो गया. अभियान के दौरान पुलिस ने भारी मात्रा में आम्र्स व नक्सली साहित्य के साथ ही कपड़े व अन्य सामान भी रिकवर किए हैं.

 

सोनाराम सुंडी चढ़ा पुलिस के हत्थे

इस संबंध में चाईबासा एसपी नरेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर छापेमारी कर पीएलएफआई के एक उग्र्रवादी सोनाराम सुंडी को अरेस्ट किया है. वह टोंटो थाना एरिया स्थित पुरनापानी का रहने वाला है. उन्होंने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि तिलाई सूद गांव के रामकमल दास के घर में पीएलएफआई के अमर गुडिय़ा, सोनाराम सौंडी सहित अन्य 4-5 लोग मिटिंग कर किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की तैयारी कर रहे हैं.

इसके बाद पुलिस की एक टीम बनाकर छापेमारी के लिए लगाया गया. पुलिस टीम बड़ा लांगिया से 2 टीम के बंटकर तिलाई सूद गांव के लिए बढ़ी. जैसे ही पुलिस रामकमल दास के घर के पास पहुंची वहां भगदड़ मच गई. घर से निकल कर लोग भागने लगे. पुलिस ने पीछा कर उनमें से एक सोनाराम को पकड़ लिया, जबकि अन्य अंधेरे का फायदा उठाकर वहां से भाग निकले. पुलिस ने रामकमल दास को भी उसके घर से अरेस्ट कर लिया.

एसपी ने बताया कि 9 अक्टूबर 14 को सोनाराम सुंडी व दिलीप तुबिद ने तिलाईसुद के पोस्टमास्टर के घर में हथियार के बल पर लूटपाट की घटना को अंजाम दिया था. इसके अलावा सोनाराम पार्टी के लिए लेवी वसूलने का भी काम करता था. 4 दिसंबर 2014 को रोरो में सभी नक्सलियों ने एक युवती के घर में खाना खाया और वहां से निकलने के बाद रोरो माइंस का निरीक्षण करने गए माइनिंग विभाग के अधिकारियों को अपहरण कर लिया था. हालांकि बाद में पुलिस का प्रेशर बनने पर वे सभी लोगों को छोड़कर भाग निकले.

एसपी ने बताया कि 6 जनवरी को किसी सूंडी लड़की को लेकर नक्सलियों के बीच आपस में ही विवाद हो गया था. इस कारण ग्र्रुप के कुछ लोग वहां से अपने घर चले गए, जिस कारण उनके पास काफी संख्या में हथियार रह गए थे, जिसे ले जाने में उन्हें प्राब्लम हो रही थी. इसके बाद इनलोगों ने रोरो नदी के पास स्थित रामकमल दास के घर में 4 एक्टस्ट्रा हथियार रख दिया था. इसके बाद 12 जनवरी के सभी रामकमल दास के घर में जुटे थे और किसी घटना को अंजाम देने की तैयारी में थे. इस बीच पुलिस को सूचना मिली और छापेमारी कर दी गई. घटना में अन्य लोग तो भाग निकले जबकि सोनाराम व रामकमल दास को पुलिस ने पकड़ लिया.

 

बरामद सामान

राईफल -4 (एक लोडेड)

मैगजीन -1

कारतूस -5

गोली रखने का पाउच -2 पीस

मोबाईल -1

पीएलएफआई का पैड – 10

पीएलएफआई का पर्चा

पीएलएफआई का किताब -2

खर्च की डायरी -1

वर्दी -2 सेट

मेडिसीन

 

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More