केजरीवाल फिर अपनों के निशाने पर, शांति भूषण बोले- पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र नहीं

35

शहनवाज ,नई दिल्ली,
आम आदमी पार्टी के सीनियर लीडर और संस्थापक सदस्यों में से एक शांति भूषण ने पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व क्षमता पर सवाल उठाया है और कहा है कि पार्टी में कोई आंतरिक लोकतंत्र नहीं है। एक मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। बता दें कि अरविंद केजरीवाल की लीडरशिप पर पहले भी कई बार सवाल उठ चुका है। पार्टी छोड़ने वाले कुछ नेताओं ने केजरीवाल पर आरोप लगाया था कि उनकी वजह से पार्टी में लोकतांत्रिक माहौल नहीं है। कुछ वक्त पहले आप नेता योगेंद्र यादव की ओर से लिखी गई कथित चिट्ठी में भी अरविंद की लीडरशिप पर सवाल उठाए गए थे।

अंग्रेजी चैनल टाइम्स नाउ के मुताबिक, शांति भूषण ने कहा, ”वह (केजरीवाल) एक बड़े नेता हैं, लेकिन मेरी राय में उनमें पार्टी के मामलों को मैनेज करने की क्षमता की कमी है। पार्टी उनकी अगुवाई में पूरे भारत में विस्तार करने में नाकाम रही है। केजरीवाल को संगठन से जुड़े कार्य किसी ऐसे शख्स को सौंप देना चाहिए, जिसके पास समय हो।” शांति भूषण ने केजरीवाल को यह भी सलाह दी कि वह महत्वपूर्ण मुद्दों पर दूसरे नेताओं से परामर्श करें।

आम आदमी पार्टी की वेबसाइट पर प्रकाशित इंटर्नशिप का नोटिस।

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में विधानसभा चुनाव को लेकर अभियान छेड़ दिया है। पार्टी ने बुधवार को चुनाव कराने की मांग को लेकर सिग्नेचर कैंपेन शुरू किया है। साथ ही घोषणा से पहले चुनाव में उतरने की तैयारी भी शुरू कर दी है। चुनाव में उतरने से पहले ‘आप’ गुड गवर्नेंस के लिए अपना अलग मॉडल विकसित करना चाहती है, इस काम में पार्टी ने युवाओं से मदद मांगी है। ‘आप’ ने केजरीवाल की मदद के लिए बीस युवाओं को इंटर्नशिप का प्रस्ताव दिया है।

‘आप’ का आइडिया बैंक
पार्टी का इंटर्नशिप प्रोग्राम दो महीने का होगा। बीस पोस्ट के लिए पार्टी को अब तक 31 हजार आवेदन मिल चुके हैं। चुने गए युवा पार्टी के गुड गवर्नेंस विजन को तैयार करने में अरविंद केजरीवाल की मदद करेंगे। आम आदमी पार्टी के नेता और इंटर्नशिप प्रोग्राम के कॉर्डिनेटर गोपाल मोहन के मुताबिक, पिछले दो हफ्तों में हमने 31 हजार आवेदकों में से 100 को शॉर्टलिस्ट किया है, इन्हें अब इंटरव्यू के लिए बुलाया गया है। इनमें से आधे से ज्यादा आईआईटी और आईआईएम से हैं। इंटर्नशिप अगले हफ्ते से शुरू होगी।’

कैसे मदद करेंगे इंटर्न
गोपाल के मुताबिक, इंटर्न पार्टी के लिए गवर्नेंस पर रिसर्च करेंगे और एक आइडिया बैंक बनाएंगे, जिन्हें पार्टी विधायकों द्वारा लागू किया जाएगा। हालांकि अभी यह नहीं बताया गया है कि यदि चुनाव की घोषणा होती है तो क्या पार्टी इन आइडियाज को अपने घोषणापत्र में शामिल करेगी।

पश्चिमी देशों में हैं पॉलिटिकल इंटर्नशिप का कॉन्सेप्ट
पॉलिटिकल इंटर्नशिप का कॉन्सेप्ट अमेरिका और पश्चिमी देशों में हैं, जहां बिजनेस स्कूल के छात्रों द्वारा दिए गए आइडियाज को पार्टी और राजनेताओं द्वारा इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि, अब भारत में भी इसका चलन बढ़ रहा है। आप ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में अलग-अलग पेशे से जुड़े युवाओं की खूब मदद ली थी।

विधानसभा चुनाव की मांग को लेकर ‘आप’ का अभियान

केजरीवाल ने तीन अगस्त को जंतर-मंतर पर रैली कर विधानसभा चुनाव कराने की मांग की थी। इस रैली के एक हफ्ते बाद अब पार्टी नेता मनीष सिसोदिया के निर्वाचन क्षेत्र पटपड़गंज से सिग्नेचर अभियान शुरू किया गया है। इस अभियान के तहत जनता से चुनाव को लेकर राय जानी जाएगी। सिग्नेचर कैंपेन के लिए एक फॉर्म बनवाया गया है, जिसे पार्टी के वॉलंटियर घर घर जाकर बांट रहे हैं।

चुनाव की मांग को लेकर इन साधनों का भी इस्तेमाल कर रही पार्टी
‘आप’ दिल्ली की सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों के मतदाताओं को इस अभियान में शामिल करने की कोशिश करेगी। चुनाव की मांग को लेकर एलजी पर दबाव बनाने के लिए केजरीवाल ने जनता के नाम एक पत्र भी लिखा है, इसे कार्यकर्ता हर घर तक पहुंचाएंगे। पार्टी प्रवक्ता दिलीप पांडे के मुताबिक, शुरुआत में यह अभियान 15 दिनों तक चलाया जाएगा, इसके बाद समीक्षा होगी। जिसके आधार पर आगे की रणनीति की जाएगी।
इसके अलावा पार्टी सोशल मीडिया और माध्यमों से भी अभियान चलाएगी। एफएम चैनलों पर विज्ञापन चलाए जाएंगे। कुछ वीडियो वॉट्स एप से सर्कुलेट किए जाएंगे। वीडियो में यह बताया जाएगा कि दिल्ली में फिर से चुनाव कराने क्यों जरूरी है और जनता द्वारा चुनी हुई सरकार न होने के कारण लोगों को क्या परेशानी उठानी पड़ रही है।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More