आर वी एस इंजीनियरिंग कॉलेज का दुसरा एलुमनी री-यूनियन महोत्सव

 

भावुक माहौल में हुआ पूर्व छात्रों का मिलन

 

संवाददाता ,जमशेदपुर, 22 दिसंबरः

अपनी स्थापना के एक दशक सफलता पूर्वक पूरा करने के सुनहरे अवसर पर स्थानीय आर वी एस कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नोलॉजी ने आज यहाँ संस्थान के पूर्व छात्रों का मिलन महोत्सव आयोजित किया। श्आर वी एस काॅलेज एलुमनी री-यूनियन-14श् नामक इस समारोह में संस्थान के पिछले बैचों के पास-आउट इंजीनियरिंग ग्रेजुएट्स इक्ट्ठा हुए और पुरानी यादों को ताजा करते हुए अपने पेशेवर जीवन के अनुभवों को साझा किया। कॉलेज परिसर में आयोजित एलुमनी मीट (पूर्व छात्र मिलन समारोह) का अत्यन्त भावपूर्ण माहौल में हुआ यह समारोह अविस्मरणीय बन गया।

समारोह का उद्घाटन कोल्हान विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ0 आर0 पी0 पी0 सिंह  ने आज सुबह दीप प्रज्ज्वलित कर तथा गुब्बारे उड़ा कर किया। काॅलेज के निदेशक प्रो0 (डाॅ0) एम0 पी0 सिंह ने समारोह का स्वागत भाषण करते हुए कहा कि वर्ष 2004 में बी0 टेक इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम की चार शाखाओं में कुल 240 सीटों की क्षमता के साथ आर वी एस कॉलेज ने अपना सफर शुरू किया था। अपेक्षाकृत रूप से पिछड़े प्रदेश झारखंड के युवाओं के कैरियर को सही दिशा देने का संस्थान ने तब संकल्प लिया था। चट्टानी इरादों और कड़ी मेहन्त की बदौलत आर वी एस परिवार उस संकल्प को मूर्त रूप देने के लिए लगातार प्रयासरत रहा और आज उसका सुखद परिणाम हमारे समक्ष है, जब बी0 टेक0 कोर्स के पहले सात बैचः 2004-2008, 2005-2009, 2006-2010, 2007-2011, 2008-2012, 2009-2013 और 2010-2014 के छात्र-छात्राएँ अपने सिर प्रोफेशनल लाइफ की शानदार कामयबी का सेहरा बाँधे कॉलेज के प्रांगण में उपस्थित हैं। डाॅ0 सिंह ने कहा कि पास आउट छात्र-छात्राओं का कैरियर परवान चढ़ना ही काॅलेज की वास्तविक कामयाबी है। आज आर वी एस काॅलेज बी0 टेक0 कोर्स की छह शाखाओं-मेकैनिकल इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल एण्ड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स एण्ड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग, कम्प्यूटर साइंस इंजीनियरिंग एवं मेटलर्जिकल इंजीनियरिंग तथा एम सी ए एवं एम टेक (कम्प्यूटर साइंस) मिलाकर कुल 678 सीटों की क्षमता के साथ प्रगति के पथ पर अग्रसर है। निदेशक डाॅ0 सिंह ने कहा कि काॅलेज के पूर्व छात्रों का कामयाब कैरियर आर वी एस परिवार के लिए एक प्रेरक तत्व है।

आर वी एस काॅलेज के सचिव श्री भरत सिंह ने एलुमनी एमारोह में आये छात्र-छात्राओं के साथ-साथ किन्हीं कारणों से उपस्थित न हो सके पूर्व विद्यार्थियों को भी भावी जीवन की शुभकामनाएँ दीं और कहा कि काॅलेज के 11 वर्ष पूरे होने पर होने वाले समारोहों में एलुमनी री-यूनियन सर्वाधिक यादगार एवं दिल को छू लेने वाला समारोह होगा। श्री सिंह पूर्व छात्रों से व्यक्तिगत रूप से भी मिले और कहा कि प्रोफेशनल जीवन में नयी ऊँचाइयाँ छूने पर वे सभी अपने परिवार के साथ-साथ आर वी एस काॅलेज का भी नाम रोशन करेंगे, जहाँ उन्होंने इंजीनियरिंग की बुनियादी शिक्षा लेने के साथ-साथ उसके हुनर एवं गुर सीखे।

इस अवसर पर आर वी एस एलुमनी एसोसियेशन के कार्यकारी अध्यक्ष पूर्व छात्र हरीश कुमार ने संस्थान के गुरूजनों के प्रति आभार जताते हुए निदेशक डाॅ0 सिंह से मिली अनुशासनप्रियता एवं इमानदारी की सीख को अनमोल बताया। श्री कुमार ने कहा कि मौजूदा छात्रों के कैरियर निर्माण में यथासंभव सहयोग के जरिये आर वी एस एलुमनी संघ काॅलेज के विकास में योगदान के लिए करिबद्ध है।

समारोह के उदघाट्न सत्र के बाद पूर्व छात्रों और वर्तमान फाइनल ईयर (2011-2015 बैच) के छात्रों का एक प्रश्नकाल आयोजित किया गया जहाँ वर्तमान छात्रों को प्लेसमेंट एवं कैरियर की दिशा तय करने के बारे में पूर्व छात्रों ने बहुमूल्य सुझाव दिये।

इस एक दिवसीय समारोह के अपराह्न सत्र में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की एक लम्बी श्रृंखला आयोजित की गयी। एलुमनी मीट का अंत पूर्व छात्रों के गेट-टुगेदर कार्यक्रम से हुआ जहाँ अगले वर्ष पुनः मिलने के वादे के साथ सभी पूर्व छात्रों ने एक-दूसरे से विदाई ली।

काॅलेज के चेयरमैन श्री बिंदा सिंह, कोषाध्यक्ष श्री शत्रुघ्न सिंह, आर वी एस ट्रस्ट के कार्यकारी सदस्य श्री शक्ति सिंह, प्राचार्य डाॅ0 सुकोमल घोष, सभी विभागाध्यक्ष, फैकल्टी मेम्बर्स एवं स्टाफ इस भावपूर्ण समारोह के साक्षी बने समारोह का धन्यवाद ज्ञापन आर वी एस एलुमनी संघ के अध्यक्ष हरीश कुमार ने किया।

 

 

 

 

 

 

 

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More