अर्जुन मुंडा के लिए साधुचरण के बाद लक्ष्मण सीट छोड़ने को तैयार

 

घाटशिला से चुने गए है  विधायक लक्ष्मण

संवाददाता.जमशेदपुर,24 दिसबंर

झारखंड विधानसभा चुनाव में भाजपा के दिग्गज नेता और तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके अर्जुन मुंडा को करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है, लेकिन पार्टी के अंदर उनकी लोकप्रियता अब भी बरकरार है और उनके मुख्यमंत्री बनने की स्थिति में विधानसभा सदस्यता छोड़ने की बात कही है। सरायकेला-खरसावां जिले के ईचागढ़ विधानसभा क्षेत्र के नवनिर्वाचित भाजपा विधायक साधुचरण महतो  के बाद  घाटशिला के नवनिर्वाचित विधायक लक्ष्मण टुडू ने अर्जुन मुंडा के लिए विधानसभा सदस्यता छोड़ने की बात की है। नवनिर्वाचित विधायक लक्ष्मण टुडू ने बुधवार को पत्रकारो से बातचीत में कहा कि झारखंड को अर्जुन मुंडा जैसे व्यक्तित्व की जरुरत है, यदि पार्टी नेतृत्व उन्हें मुख्यमंत्री बनाने को तैयार है  और परिस्थिति बनता है, तो ¨ वे सीट छोड़ने के लिए तैयार है। उन्होंने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से भी इस मसले पर विचार-विमर्श करने का आग्रह किया। गौरतलब है कि वर्ष 2009 में जमशेदपुर संसदीय सीट से निर्वाचित होने के बाद जब अर्जुन मुंडा ने वर्ष 2011 में जब मुख्यमत्री बने थे, तब भी खरसावां विधानसभा सीट से उनके लिए भाजपा विधायक मंगल सिंह सोय ने सीट छोड़ी थी और उपचुनाव में अर्जुन मुंडा ने जीत हासिल की थी।

अर्जुन मुंडा ने नेता पद से त्यागपत्र्ा दिया

उधर,विधानसभा चुनाव में खरसावां विधानसभा सीट से अपनी हार के बाद पार्टी विधायक दल के नेता पद से त्यागपत्र दे दिया है। अर्जुन मुंडा ने आज अपना त्याग पत्र  भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रवींद्र राय को  भेज दिया है। खरसावां से अर्जुन मुंडा की हार के बाद रघुवर दास ने उनसे मुलाकात की। अर्जुन और रघुवर की यह मुलाकात औपचारिक मुलाकात बताई गई है लेकिन असल में वह उन्हें सांत्वना देने गए थे।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More