सुपौल-बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ (गोप गुट) द्वारा पूतला फुंका

सोनू कुमार भगत \रवि रौशन कुमार

छातापुर (सुपौल ) ।

शिक्षक विरोधी व वादा खिलाफी निति के विरोध में सुपौल जिला मुख्यालय स्थित लोहिया चौक पर बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ (गोप गुट) द्वारा सचिव पुष्पराज के नेतृत्व में शिक्षकों ने बिहार के शिक्षा मंत्री का पुतला जलाया। शिक्षा मंत्री का पुतला दहन का कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष विवेकानंद दास ने की।

कार्यक्रम की शुरुआत जिला संयोजिका अर्चना कुमारी के संचालन में महान दार्शनिक एवं पूर्व राष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधा कृष्णन के प्रतिमा पर सभी शिक्षकों जे पुष्प अर्पित की गई तथा इनपर चर्चा भी गई।मौके पर जिला के जिलाध्यक्ष विवेकानंद दास ने बताया की बिहार राज्य के अन्यायपूर्ण रवैये के खिलाफ ये पुतला दहन एक मात्र चेतावनी है। यदि इसके वावजूद भी सूबे के 4 लाख नियोजित शिक्षकों एवं पुस्तकालय अध्यक्षों के सभी समस्याओं का समाधान नहीं किया गया तो नियोजित शिक्षक पटना की धरती पर  उग्र आंदोलन करने को विवश होगें।

कार्यक्रम को संबोधित करते संघ के जिला सचिव पुष्पराज ने बताया की शिक्षा मंत्री नियोजित शिक्षकों के मुख्य समस्या 9300/- – 34500/- का पूर्ण वेतन मान, राज्यकर्मी का दर्जा, ऐच्छिक स्थान्तरण, लंबित एरियर भुगत, ससमय वेतन, अप्रशिक्षितों को ग्रेड पे के साथ साथ एक मुश्त प्रशिक्षिण की अनुमति व वेतन भुगतान, स्नातक प्रोन्नति, नियमित शिक्षकों की तरह  नियोजित का भी सेवा शर्त का प्रकाशन आदि मांगों को ले कर सरकार गंभीरता से समस्या का समाधान नहीं करती है तो शीघ्र ही नियमित रूप से उग्र आंदोलन को बाध्य होगें।

जिला संयोजिका अर्चना कुमारी ने कही कि ये पुतला दहन तो एक टेलर मात्र है। यदि सरकार और शिक्षा मंत्री  ने नियोजित शिक्षकों को अपमानित और प्रताड़ित करना बंद नहीं किया तो इससे भी उग्र आंदोलन करने को नियोजित शिक्षक तैयार हैं। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला मिडिया प्रभारी अमर कुमार सहनी ने कहा की राज्य सरकार सूबे के 4 लाख नियोजित प्रारंभिक, माध्यमिक, उच्च माध्यमिक शिक्षकों एवं पुस्तकालय अध्यक्ष के सेवा शर्त निर्धारण में उदासीन रवैया अपनाई हुई जो सरकार और शिक्षा मंत्री का वादा खिलाफी का कार्य है।

ज्ञातव्य हो की माननीय शिक्षा मंत्री जी ने पूर्व के वार्ता में आश्वश्त किया था की सेवा शर्त निर्धारण हेतु बनी उच्च स्तरीय कमिटी के साथ संघ के प्रतिनिधियों की बैठक आहूत कर जल्द ही सेवा शर्त का प्रकाशन कर दिया जायेगा। ताकि सभी समस्याओ का समाधान हो। किन्तु शिक्षक संगठनों का वार्ता माध्यमिक शिक्षा निदेशक से कराकर अपनी नियत एवं निति को साफ कर दिया है की सरकार कितना गंभीर है। वार्ता करने वाले पदाधिकारी सेवा शर्त निर्धारण कमिटी जे सदस्य तक नहीं हैं। इससे बाध्य हो कर राज्य संघ ने प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप कुमार पप्पू के नेतृत्व में चरणबद्ध आंदोलन के तहत आज शिक्षक दिवस के अवसर पर सभी जिला मुख्यालयों में शिक्षा मंत्री का पुतला फूंका गया।

इस मौके पर  संघ के सुपौल जिले के अध्यक्ष विवेकानंद दास, सचिव पुष्पराज, प्रवक्ता अमर कुमार सहनी, संयोजिका अर्चना कुमारी के साथ शिव पूजन, मनीष कुमार, संतोष कुमार, अजित कुमार झा, मीरा कुमारी, रीता कुमारी, विवेक कुमार, शुशील कुमार, संगीता कुमारी, उषा कुमारी, दिनेश कुमार, तबस्सुम प्रवीण, साजदा खातुन, सुदिना कुमारी, रामबहादुर, मो अंजार आलम सहित सैकडों की संख्याँ में शिक्षक उपस्थित रहे।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More