सहरसा-मोहनपुर पंचायत के भ्रमणशील डीलर हजारों लीटर किरोसीन पी गये

 

4558c83c-2568-4ba9-87e4-700395db84d2

ब्रजेश भारती
सिमरी बख्तियारपुर,सहसरसा, ।

ग्रामीणों ने एसडीओं को आवेदन देकर कहा पहचानते भी नही डीलर को

इस प्रखंड में भ्रमणशील किरासन तेल वितरण की ये हाल है कि यहां के ग्रामीण डीलर को पहचानते भी नही हैं वितरण कैसे होता होगा इसका अंदाजा सजग लगाया जा सकता हैं। वुधवार को मुखिया प्रत्याशी संजीव चैधरी व पूर्व जिप उपाघ्यक्ष रितेश रंजन के नेतृत्व में दर्जनों ग्रामीणों ने एक हस्ताक्षरित आवेदन सिमरी बख्तियारपुर एसडीओं सुमन प्रसाद साह को देकर भ्रमणशील किरासन तेल की नियमित वितरण के अलावे एक साल में मात्र तीन वार तेल वितरण की जांच करने की मांग की हैं। ग्रामीण पिन्टु साह,मनोज राम,पवन तांती जोगी पासवान,लक्ष्मी तांती,शंम्भु राय आदि ने बताया कि हमलोग तो पहचानते भी नही है की कौन भ्रमणशील किरासन तेल का डीलर है कुछ लोगों का कहना है कि करीब एक साल में तीन वार तेल का आधा अधुरा वितरण मात्र किया है डीलर मिलीभगत कर सारा तेल हजम कर रहा है कोई देखने वाला नही है। मुखिया प्रत्याशी संजीव भगत ने कहा की इस पंचायत में भष्ट्राचार पग पग पर जंजीर की तरह जकड़ा हुआ है डीलर ने मात्र एक साल में अगर तीन माह छोड़ भी दे तो 750 लीटर की दर से मुखिया से मिलीभगत कर करीब 6750 लीटर किरासन तेल का गबन किया है इसकी गहन जांच की आवश्यकता है दोषी पर कार्यवाही भी होनी चाहिये। ग्रामीणों के आवेदन पर तत्काल एसडीओं सुमन प्रसाद साह ने प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी रजनीश रमन सिह को फोन कर डीलर के संबंध में जानकारी ले कर जांच कर डीलर पर कार्यवाही करने की बात कहीं।
क्या कहते है बीएसओं- इस संबंध में प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी ने बताया की पहले मोहनपुर पंचायत में दो भ्रमणशील डीलर हुआ करता था अब सिर्फ एक डीलर गोपाल कुमार वार्ड एक से सात में किरासन तेल का वितरण करता है उन्होंने बताया की प्रत्येक माह एक डीलर को 750 लीटर किरासन तेल का आवंटन मिलता है तेल का वितरण वितरण पंजी को स्थानिय मुखिया से अभिप्रमाणित करने के बाद ही दुसरा आवंटन मिलता है अगर तेल नही वितरण करता था तो मुखिया कैसे वितरण पंजी पर हस्ताक्षर करता था ये जांच का विषय है लगाये गये आरोप की जांच की जायेगी दोषी पाये जाने पर डीलर पर कार्यवाही की जायेगी।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More