मधेपूरा-चौसा पुलिस के विरोध मे लोगो ने सड़क जाम किया

संजय कुमार सुमन
मधेपुरा
जिले के चौसा प्रखंड अन्तर्गत घोषई मुखिया सुनील कुमार यादव के नेतृत्व में आज़ शनिवार को सैकड़ों लोगों ने चौसा पुलिस प्रशासन के विरुद्ध जगह जगह सड़क जाम कर घंटों हो हंगामा करते हुए पुलिस विरोधी नारे लगा कर जुलूस निकाला वहीं दूसरी ओर दूसरे गुट के सैकड़ों लोगों ने हाथ में लाठी डंडा लेकर सड़क पर आ गये। दोनों गुट के आमने सामने आने पर पत्थर बाजी भी हुआ ।कई राहगीर को चोटें भी आई। स्थानीय लोगों के पहल पर किसी तरह मामला को शांत कराया गया।
बताया जाता है कि बिहार में शराब बंदी होने के बावजूद चौसा के कई पुलिसकर्मी खुले आम चौक चौराहे पर स्थानीय लोगों के साथ शराब पीते है।जिनके विरोध में मुखिया सुनील कुमार यादव के नेतृत्व में लोगों ने जगह जगह सड़क जाम कर आवागमन को बाधित किया और पुलिस विरोधी नारे लिखें तख्ती के साथ रैली निकाली। रैली को कुछ लोग समझ बिहारीगंज की घटना को जोड़ कर देख रहे थे। स्थानीय कुछ लोग गलत फहमी के शिकार हो गये और सैकड़ों लोग हाथ में लाठी डंडा लेकर सड़क पर आ गये। दोनों गुट के लोग एक दूसरे को खदेड़ने लगे। दोनों के बीच पत्थर बाजी भी हुआ।कई लोगों को हल्की चोटें भी आई। मामला गम्भीर होते देख स्थानीय बुद्धिजीवी लोगों के पहल पर किसी तरह मामला को शांत कराया गया। मामले को लेकर चौसा थाना में एक बैठक हुई।जिसमे आमलोगों ने घटना के प्रति क्षोभ व्यक्त करते हुए कहा कि यद शराब बंदी के बाद भी कुछ पुलिसकर्मी शराब का सेवन खुले आम कर रहे हैं तो गलत है।उस पर कार्रवाई हो इसके लिये सड़क जाम और रैली करना कहीँ से भी उचित नही। घटना के बावत मुखिया सुनील कुमार यादव कहते हैं कि लोग शराब पीते हैं तो पुलिस पकड़ कर जेल भेज देती है और चौसा के पुलिस अधिकारी स्थानीय लोगों के साथ खुले आम शराब पीते हैं तो उन पर चौसा थाना अध्यक्ष सुमन कुमार सिंह कार्रवाई नही करते हैं।जबकि इस संदर्भ में कई बार थाना अध्यक्ष को सूचना दी गई। कार्रवाई करने के बदले हमारे विरोधी को मेरे विरुद्ध भड़काते है जिसे मैं कदापि बर्दाश्त नही कर सकता।
थाना अध्यक्ष सुमन कुमार सिंह ने आरोप को निराधार बताते हुए कहा कि बिना सबूत के मैं क्या कर सकता हूँ।यदि मैने कार्रवाई नही की तो मेरे उच्च पदाधिकरी को सूचना देते ।
उधर प्रखंड कार्यालय चौसा परिसर में प्रखंड प्रमुख शम्भू प्रसाद यादव की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित कर दोनों पक्ष के लोगों की बात सुनकर निर्णय लिया गया कि भविष्य में इस तरह की कोई बात नही होगी। मुखिया सुनील कुमार यादव ने अपनी ओर से माफी मांगी। बीडीओ मिथिलेश बिहारी वर्मा ने कहा कि हमलोग गलत फहमी का शिकार ना हों। शिकायत होना लाजमी है लेकिन उसे मिलकर दूर किया जा सकता। हम शांति के परियाचक बने।गरीबों की सेवा करें तभी हम और हमारा समाज आगे बढ़ सकता है।
इस मौके पर बीस सूत्री अध्यक्ष मनोज प्रसाद,बीस सूत्री के पूर्व अध्यक्ष अम्बिका गुप्ता,पूर्व उपप्रमुख विनोद सिंह,पूर्व मुखिया सूर्य कुमार पट्वे,मनौवर आलम,नरेश ठाकुर निराला,आफ़ताब आलम,पूर्व सरपंच निवासचंद्र यादव,अनिल मुनका,कैलाश पासवान,अरजपुर पश्चिमी मुखिया प्रतिनिधि सुबोध कुमार सुमन,साई इस्लाम,गोपाल यादव,गोपाल दास,आरिफ आलम समेत दर्जनों लोग उपस्थित थे।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More