पाकुङ के महारो एसबीआई से हुई लाखों की डकैती

74

 

कैशसेफ से हुई 1 लाख 33 हजार 32 रूपयें की चोरी, सीसीटीवी व फाईट      डिडेक्टर का तार काटकर

 

सुनील कुमार. पाकुङ.30 मई ,

हिरणपुर  थाना अन्तर्गत महारो स्थित भारतीय स्टेट बैंक शाखा में बीते बुधवार की रात को शातिर चोरों ने लाखों की राशि सहित अन्य सामग्री लेकर चंपत हो गया। घटना को लेकर थाना प्रभारी अजय कुमार कर्ण, एएसआई ठाकुरदास मंडी पुलिसबल के साथ  शाखा पहुंचकर मामले की छानबीन में जुट गयी है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक घटना की जानकारी शाखा प्रबंधक सुभाष चन्द्र सुत्रधर को बैंक में कार्यरत कैन्टीन ब्याॅय मांझी किस्कु ने गुरूवार को अहले सुबह दुरभाष पर दी। बैंक में चोरी की घटना पाकर शाखा प्रबंधक सुबह के करीब साढ़े 7 बजे शाखा पुहंचकर बैंक का मुख्य गेट का ताला तोड़ा पाया गया। इसके अलावे बैंक के पीछे का खिड़की को भी तोड़ दिया गया था। जबकि चोरों ने बैंक के अन्दर प्रवेश कर सीसीटीवी व फाईट डिडेक्टर का सभी तार को काटकर डिसकन्केट कर दिया था। इसके पश्चात् लाॅकर रूम में घुसकर कैशसेफ को गैस कटर से काटकर 1 लाख 33 हजार 32 रूपयें राशि निकाला। वहीं नगद राशि के अलावे सीसीटीवी से कनेक्ट 2 माॅनिटर व 5 बड़ा बैटरी भी ले भागा। इसके अलावे सभी अलमीरा का लाॅक को तोड़कर आवश्यक कागजातों को तितर-बितर कर दिया। घटना को लेकर विभाग से पाकुड़ व साहेबगंज के सिक्यूरिटी इंचार्ज संजय कुमार दास ने जायजा लिया। इस संबध में श्री दास ने बताया कि बैंक को सुरक्षित स्थानों में ले जाया जाएगा। जबकि सुरक्षा को लेकर रात्रि प्रहरी की व्यवस्था उपलब्ध कराया जाएगा। वहीं शाखा प्रबंधक सुभाष चन्द्र सुत्रधर ने बताया कि बैंक असुरक्षित स्थान व जर्जर भवन में होने के कारण इसके पूर्व दो बार घटना घटी है। जबकि इसकी जानकारी विभाग के वरीय पदाधिकारीयों को दी गयी है।

फोटो संख्या- 01

——————————-

पदाधिकारीयों की लापरवाही कार्यशैली के कारण

महारो बैंक में हुई चोरी की तीसरी घटना

—————————

बैंक के वरीय पदाधिकारीयों की लापरवाही कार्यशैली के कारण महारो एसबीआई में यह तीसरी बार चोरी की वारदात हुई। अगर विभाग के पदाधिकारीयों द्वारा सही समय पर यथार्त प्रयास की जाती तो शायद ही बुधवार को होती लाखों की डकैती। बतातें चले कि महारो स्थित प्राथमिक विद्यालय में संचालित स्टेट बैंक की शाखा वर्षो से संचालित है। जहां प्रतिदिन लाखों रूपयें की लेनदेन होती है। मालूम हो कि उक्त बैंक असुरक्षित स्थान व  जर्जर भवन के कारण बीते 16 दिसम्बर 2011 को शाखा प्रबंधक पन्नालाल राम के दरम्यियान असफल चोरी का प्रयास हुआ था। इसको लेकर थाना कांड संख्या 63/11 में मामला दर्ज की गयी थी। इसके पश्चात् 2 अक्टुबर 2013 को पुनः चोरी की घटना वर्तमान शाखा प्रबंधक सुभाष चन्द्र सुत्रधर के समय ही हई थी। घटना के बावत् थाना कांड संख्या 123/13 में मामला दर्ज की गयी थी। इसपर एलडीएम, पाकुड़ घटनास्थल पहुंचकर बैंक को सुरक्षित स्थानों में ले जाकर रात्रि प्रहरी की व्यवस्था कराने की बात कही थी। लेकिन समय बीतते गया और पदाधिकारीयों का प्रयास न किये जाने का नतीजा बुधवार को प्रकट हुआ। जबकि विभाग सबकुछ जानने के बावजुद कोई ठोस कमद नही उठायें जाने के पीछे कई सवाल खड़े हो रहे है। उधर, सिक्यूरिटी इंचार्ज संजय कुमार दास ने अपने सफाई देते हुए कहा कि इसको लेकर यथाशीघ्र उचित कदम उठाया जाएगा।

फोटो संख्या- 02

Local AD

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More