18 देशों के 43 प्रतिनिधियों ने लोकसभा चुनाव-2014 देखा

भारतीय निर्वाचन आयोग द्वारा लोकसभा चुनाव 2014 के साथ-साथ आयोजित चुनाव दर्शक कार्यक्रम (ईवीपी) का सफल समापन हुआ। मॉरिशस के चुनाव आयुक्त और यूडीएनपी के रेजीडेंट प्रतिनिधि ने इस कार्यक्रम के तहत मतगणना केन्द्र का भ्रमण किया। यह कार्यक्रम भारतीय निर्वाचन आयोग की दक्षिण-दक्षिण सहयोग पहल का एक हिस्सा है। यूएनडीपी की भागीदारी वाले इस कार्यक्रम को अच्छी प्रतिक्रिया मिली।

इस कार्यक्रम में नामीबिया, नाइजीरिया, लिसोथो, मलेशिया, मॉरिशस, म्यांमार, नेपाल, यूगांडा, केन्या, भूटान और लीग ऑफ अरब स्टेट्स के अनेक सदस्य देशों (मिस्र, सउदी अरब, ट्यूनीशिया, सोमालिया, फलिस्तीन, ईराक, यमन और ओमान) ने भाग लिया।

इन प्रतिनिधियों को समूह में बांटा गया था और प्रत्येक समूह को निर्वाचन आयोग ने चुनाव के बारे में जानकारी देने के बाद एक चुनाव स्थल का भ्रमण कराया और उसके बाद चुनाव आयोग में इस बारे में उनके साथ बातचीत की गई। प्रतिनिधियों को कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के चुनाव स्थलों का भ्रमण कराया गया। नई दिल्ली में तैनात राजनयिकों और मलेशिया के सांसदों के एक समूह ने भी विभिन्न राज्यों में लोकसभा चुनावों की प्रक्रिया को देखा। कुल मिलाकर 30 से अधिक देशों के 140 व्यक्तियों को विश्व के सबसे बड़े चुनाव आयोजन को पहली बार देखने का मौका मिला।

सभी प्रतिनिधि चुनाव प्रक्रिया और इसमें भाग लेने वालो की संख्या देखकर बहुत प्रभावित हुए और उन्होंने इस बड़े आयोजन के प्रबंध और चुनाव को निष्पक्ष, पारदर्शी और शांतिपूर्ण रूप से सुनिश्चित करने के लिए भारतीय निर्वाचन आयोग की प्रशंसा की। उन्होंने चुनाव दलों द्वारा अपनी जिम्मेदारी सावधानी से निभाने की भी सराहना की। सभी प्रतिनिधि भारतीय चुनाव आयोग के अधीन क्रमबद्ध मतदाता शिक्षा और मतदाता भागीदारी कार्यक्रम के प्रयासों से बहुत प्रभावित थे। उनमें से अनेक प्रतिनिधियों ने अपने देशों में इन्हें अपनाने/दोहराने के लिए जानकारी/लागू करने के दस्तावेजों के लिए भी अनुरोध किया। चुनाव प्रबंधन के विभिन्न क्षेत्रों में अपनाई गई प्रौद्योगिकी की भी बहुत प्रशंसा की गई।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More