मधेपूरा-पूजामय माहौल हुआ चौसा का

SANJAY KUMAR SUMAN

 

संजय कुमार सुमन
मधेपुरा
जिले के विभिन्न पूजा समिति द्वारा दुर्गा पूजा की तैयारी की धूम मची है।सभी कमिटीयों द्वारा एक से बढ़ कर एक पंडाल का निर्माण किया जा रहा है।सभी में मूर्ति निर्माण से लेकर सजावट तक आगे बढ़ने की होड़ मची है।प्रखंड मुख्यालय चौसा स्थित माँ दुर्गा की पूजा दुर्गा स्थान में 54 वर्ष पूर्व शुरू हुयी थी।यह चौसा का सबसे प्राचीन मंदिर है। मंदिर में प्रत्येक दिन संध्या में “सर्वमंगल मांग्लये शिवे सर्वार्थ साधिके।
शरण्ये त्र्यम्बके गौरी नारायणी नमोस्तुति।।
जयन्ती मंगला काली भद्रकाली कृपालिनि।
दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोस्तुते।।
या देवि सर्वभूतेषु मातृ रूपेण संस्थिता
नमस्तस्ये नमस्तस्ये, नमस्तस्ये नमो नमः।।”की ध्वनि से वातवरण गुञ्जायमान होता है।यह मंदिर वैष्णवी दुर्गा मंदिर के नाम से चर्चित है।माँ की भक्तों पर असीम कृपा है।जो भी भक्त मन्नत माँगते हैं उनकी मनोकामना पूरी होती है।पूजा कमिटी के अध्यक्ष अनिल मुनका,सचिव सूर्यकुमार पट्वे,कोषाध्यक्ष पुरुषोत्तम राम समेत कमिटी के सदस्य पूजा की तैयारी में लगे हुए हैं।
नवरात्रि को लेकर बड़ी संख्या में युवा वर्ग भी कर रहें हैं उपवास।पूर्व के दिनो में नवरात्र के मौके पर घरों में बड़े-बुजुर्ग एवं महिलायें ही उपवास करती थी वहीं इन दिनों यंग इंडिया के यंग चैप्स भी पूजा अर्चना के अलावा व्रत पर विश्वास करने लगे हैं।इनमें अधिकांश फलाहार ग्रहण कर स्वयं को दस दिनों तक चलने वाली भक्ति मय महौल में शामिल रखना चाहते हैं।
संध्या होते ही श्रद्धालु मंदिर में होने वाले आरती में शामिल होते हैं।मंदिरों में महिलाओ की काफी भीड़ देखी जा रही है। दिनभर उपवास में रहकर संध्या में आरती देने के बाद ही फलाहार करते हैं।मंदिर के आस पास अभी से ही अस्थायी दुकानदारों की भीड़ जमा हो गई है।बच्चों में गजब का उत्साह देखा जा रहा है।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More