सहरसा-पंचायत समिति की पहली बैठक शांतिपूर्ण माहौल में सम्पन्न

4558c83c-2568-4ba9-87e4-700395db84d2

ब्रजेश भारती

सिमरी बख्तियारपुर,सहरसा,।

गहमागहमी के बीच प्रथम परिचय के बाद विकास के मुद्वे को लेकर हुई चर्चा

गृह क्षेत्र रहने के बावजूद सांसद व विधायक नही हुऐ बैठक में सामिल

प्रखंड के ईकिसान भवन में शनिवार को त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों की पहली पंचायत समिति सदन की बैठक आयोजित की गई बैठक में प्रखंड के कुल 30 समिति सदस्य,22 पंचायत के मुखिया प्रतिनिधी एवं जिला परिषद सदस्यों ने भाग लिया वही सांसद व विधायक बैठक में सामिल नही हो सके। निर्धारित 11 बजे से बैठक प्रखंड प्रमुख सविता देवी की अध्यक्षता में शुरू की गई। सबसे पहले नवनिर्वाचित प्रतिनिधियों का पदाधिकारीयों के अलावे एक दुसरे से परिचय कराया गया उसके बाद विकास के मुद्वे पर चर्चा प्रारंभ की गई। सबसे पहले रायपुरा पंचायत के मुखिया सह कम्युनिस्ट नेता राजकुमार चैधरी ने अपनी 9 सुत्री समस्या सदन के बीच रखी जिसमें प्रधानमंत्री आवास योजना,कन्या विवाह योजना सहित अन्य योजनाओं में हो रहे व्याप्त भष्टा्रचार को बंद करने की मांग की। शिक्षा विभाग पर चर्चा के दौरान सदन को बताया गया कि नवपदस्थापित प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी ने 19 पंचायत सचिव पर बिना जानकारी के प्राथमिकी दर्ज करवा दिया गया जो सरासर गलत है विभाग में सचिव ने शिक्षकों का फोल्डर जमा कर दिया जिसकी प्राप्ती रसीद भी कई सचिव के पास मौजूद है इस पर जबाब देते हुये बीईओं ने कहा कि उन्हे अबतक कोई फोल्डर नही मिला है पुराने बीईओं ने अभी तक प्रभार भी नही दिया हैं।इस बात पर एसडीओं सुमन प्रसाद साह ने बीडीओं चंदा कुमारी से मामले का हल निकालेने को कहा।वृद्धापेशन में पंचायत सचिव के मानमानी का मामला सदन में रखा गया वही प्रधानमंत्री आवास योजना में वैसे लोगों का नाम सुची में सामिल करने की बात सामाने आई है जो पहले से ही इंदिरा आवास योजना का लाभ ले चुके हैं। समिति सदस्य रधुनंदन सिह ने शिक्षा में व्याप्त भष्ट्राचार का मामला उठाते हुये कहा कि माघ्यहन भोजन में गोदाम से मिलने वाले चावल की बोरी में चावल कम दिया जाता है साथ ही प्रत्येक प्राथमिक विधालय से 5 सौ एवं मध्य विधालय से एक हजार रूपये विधालय को चावल आवंटन भेजने के नाम पर लेने की बात बताई गई जिस पर एसडीओं ने कहा कि सबूत दे कौन देता है कौन लेता है सीधे एफआईआर दर्ज की जायेगी। वही उच्च विधालय चकभारों को +2 का दर्ज मिलने के बावजूद पढ़ाई नही शुरू होने की बात सदस्यो ने उठाई। बाल विकास परियोजना पर चर्चा के दौरान सदन को बताया गया की कांठो,खम्हौती में आंगनबाडी सेविका के द्वारा आंगनबाडी भवन रहने के बावजूद अपने आवास पर केन्द्र का संचालन करती है इस पर जबाव देते हुये सीडीपीओं ने कहा कि जांच कर वैसे सेविका पर कार्यवाही की जायेगी साथ ही सरकार के द्वारा आंगनबाडी के माध्यम से चलाये जा रहे योजना पर विस्तृत जानकारी सदन को दी गई। बैठक 11 बजे शुरू हुई लेकिन बिजली विभाग के एसडीओं आलोक रंजन एवं एसएफसी मैनेजर दिन के करीब एक बजे सदन पहुंचे जिससे कई सदस्यों ने नाराजगी दताई। बैठक में एसडीओं सुमन प्रसाद साह,बीडीओं चंदा कुमारी,सीओं धमेन्द्र पंडित,सांसद प्रतिनिधि अरविंद सिह कुशवाहा, जिप सदस्य ललीता रंजन,प्रखंड प्रमुख सविता देवी,उपप्रमुख रूणा देवी,कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार यादव,पीओं अभिषेक आनंद,यसवंत सिह,राहुल कुमार,ललन कुमार,मुरारी चौधरी,टंडन कुमार सहित अन्य लोग मौजूद रहें।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More