सरकार का मतलब बाप-बेटावाद नहीं होता: रघुवर

 

संवाददाता,जमशेदपुर,28 नवम्बर

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास ने झामुमो को आदिवासियों का सबसे बड़ा दुश्मन करार दिया है। उन्होंने कहा है कि झामुमो के सुप्रीमो शिबू और उनके पुत्र हेमंत सोरेन चुनावी सभाओं में खुद को आदिवासियों का सबसे बड़ा हितैषी बताते फिर रहे हैं, जबकि सच्चाई यह है कि हेमंत सोरेन, उनके परिवार के लोगों और करीबियों ने सीएनटी के प्रावधानों को धता बताकर कई जगहों पर औने-पौने दाम में आदिवासियों की जमीनें खरीद रखी है। उन्होंने कहा कि झामुमो के नेताओं की नीयत सही होती तो आज इस पार्टी की पहचान बाप-बेटे, भाई-भतीजे, मां-बहू की पार्टी के रूप में नहीं होती। पार्टी में जमीन से जुड़े आदिवासी नेताओं को हाशिए पर रखा गया या पूरी तरह दरकिनार कर दिया गया। पार्टी के भोले-भाले कार्यकर्ताओं को बरगलाकर शिबू सोरेन ने हेमंत सोरेन के हाथ में कमान हस्तांतरित कर दी। उन्होंने कहा कि हेमंत सोरेन छाती पीटकर कह रहे हैं कि नरेंद्र मोदी बाप-बेटे के रिश्ते का दर्द नहीं जानते। उन्होंने कहा कि शिबू सोरेन और हेमंत सोरेन से पूछा है कि क्या पूरी पार्टी और पूरी सरकार को बाप-बेटे के दायरे में समेट लेना ही असली राजनीति है।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More