चुनाव तैयारियो पर आयोग पूरी तरह से संतुष्टः वीएस संपत

 

रांची 13 नवम्बर।

भारत के मुख्य निर्वाचन आयुक्त वी.एस.सम्पत ने विधानसभा चुनाव की तैयारियो पर संतोष व्यक्त किया है अ©र स्वच्छ, स्वतंत्र्ा, निष्पक्ष तथा पारदर्शी तरीके से चुनाव प्रक्रिया संपन्न कराने के लिए अधिकारिय¨ं क¨ आवश्यक दिशा-निर्देश दिया है। मुख्य चुनाव आयुक्त वीएस सम्पत ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि आय¨ग के उच्चस्तरीय शिष्टमंडल ने दो  दिवसीय झारखंड द©रे के क्रम में विभिन्न राजनीतिक दलो  के प्रतिनिधियो  से मुलाकात कर उनकी शिकायतो  को¨ सुना अैर सुझाव से अवगत हो¨कर अधिकारियो  को  निर्देश जारी किया। आयोग ने आज रांची में सभी जिलो  के उपायुक्तो , पुलिस अधीक्षको , प्रमंडलीय आयुक्तो , पुलिस उपमहानिरीक्षको , पुलिस महानिरीक्षको  के साथ भी बैठक की। बाद में आय¨ग ने मुख्य सचिव, गृह सचिव अौर पुलिस महानिदेशक के साथ बैठक की। उन्होने बताया कि आयोग ने उत्पाद विभाग के वरीय अधिकारियो  के साथ भी बैठक की, जबकि बीएसएनएल के सीजेएम, झारखंड राज्य विद्य्नुत वितरण निगम के एमडी, आयकर विभाग व प्रवत्र्तन निदेशालय के अधिकारियो  के साथ भी बैठक कर चुनाव तैयारियो  की समीक्षा की। शिष्टमंडल में मुख्य निर्वाचन आयुक्त के अलावा निर्वाचन आयुक्त एच0एस ब्रह्मा्र , निर्वाचन आयुक्त डॉ0नसीम जैदी भी समेत अन्य आला अधिकारी भी म©जूद थे।

वी.एस.सम्पत ने बताया कि आज तक झारखंड में मतदाताअो की कुल संख्या 2.07करोड़ है,जिसमें 1.09करोड़ पुरुष और  98लाख महिला मतदाता शामिल है उन्हो ने बताया कि 99.97 प्रतिशत मतदाताअो फोटो¨ मतदाता पहचान पत्र उपलब्ध करा दिया गया है, जबकि इस बार सात विधानसभा क्षेत्र  धनबाद, जमशेदपुर पूर्वी, जमशेदपुर पश्चिमी,बोकारो¨, रांची, हटिया और  कांके में प्रयोगिक तौर पर मतदाताअो  के लिए विशेष व्यवस्था की गयी है,जिसके तहत मतदाताअो  को वोट देने के क्रम में ईवीएम में बत्ती देखकर पता चलेगा कि उनका वोट सही पड़ा है या नहीं अौऱ पर्ची भी दिखेगा, लेकिन वह पर्ची दिखेगा, ईवीएम बॉक्स में ही चला जाएगा। मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने बताया कि बैठक के दौरान विभिन्न राजनीतिक दलो  की अोर से कई सुझाव अौऱ शिकायतें सामने आयी। उन्होने बताया कि धोती-साड़ी-लूंगी योजना  को ¨ लेकर एक दल की अोर से आपत्ति की गयी थी, लेकिन इस योजना को¨ आदर्श आचार संहिता लागू होने के पहले ही मंजूरी मिल चुकी है अौर बजट में भी प्रावधान किया गया है,इसलिए आयग इस मामले में कई हस्तक्षेप नहीं करेगा। एक राजनीतिक दल द्वारा दुमका के उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक को¨ हटाने के संबंध में पूछे गये प्रश्न के उत्तर में उन्होने बताया कि पुलिस अधीक्षक का पहले ही तबादला हो चुका है, जबकि उपायुक्त सह जिला निर्वाची पदाधिकारी पर आयोग नजर रखेगा। उन्होने  यह साफ किया कि सभी जिला निर्वाची पदाधिकारियो   को ¨ आचार संहिता का पालन करने का सख्त आदेश दिया गया है अौर पूरी पारदर्शिता के साथ चुनाव प्रक्रिया को पूरा कराने का आदेश दिया गया है, शिकायत मिलने पर आयोग कठोर कार्रवाई करेगा। उन्होने बताया कि मतदान केंद्रो  पर बिजली, पानी, टॉयलट जैसी मूलभूत न्यूनतम सुविधाअो को  उपलब्ध कराने का आदेश दिया गया है। मतदान तथा मतगणना के दिन निर्बाध बिजली आपूर्ति व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है। उन्होने कहा कि चुनाव के दौरान सोशल मीडिया के दुरुपयोग पर भी आयेग की नजर रहेगी, जबकि उड़न दस्ता की टीम धन के दुरुपयोग व अवैध रुप से शराब की बिक्री पर नजर रखेगी। उन्होने बताया कि कुछ राजनीतिक दलो  की अोर से उम्मीदवारो  की सुरक्षा का सवाल उठाया गया था, सभी उम्मीदवारो¨ं को ¨ पूरी सुरक्षा मुहैय्या करायी जाएगी  और संवेदनशील क्षेत्र¨ं में जाने की सूचना स्थानीय पुलिस को देेंगे, तो  उन्हें अतिरिक्त सुरक्षा भी मुहैय्या करायी जाएगी। उन्होने यह भी कहा कि सुदूरवर्ती क्षेत्र¨से ईवीएम के  सीधे स्ट्रांग रुम में पहुंचाने में कठिनाई क¨ दूर करने के लिए कलस्टर बनाया गया है और इस दौरान उम्मीदवारो  के प्रतिनिधि की देखरेख में ईवीएम स्ट्रांग रुम तक पहुंचाएं जाएंगे। उन्होने बताया कि कुछ राजनीतिक दलो  ने बीमार व विकलांग मतदाताअो  को¨ मतदान केंद्रो  तक पहुंचाने के लिए वाहनो  को¨ मतदान केंद्रो तक जाने की अनुमति देने की मांग की थी, यह मांग जायज है, ऐसे मतदाताअो  को  पूरी सुविधा दी जाएगी और बूथ के लाईन तक ले जाने के लिए एक सहयोगी को¨ भी साथ ले जाने की अनुमति होगी।

 

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More