सरयु राय ने एक बार फिर बन्ना के खिलाफ खोला मोर्चा

राय ने बोला–कलमा’ पढक़र दोनों धर्म को धोखा दे रहै हैं बन्ना

संवाददाता. जमशेदपुर ,18 अक्टुबर

पूर्व विधायक सरयू राय ने कहा कि राज्य के कृषि मंत्री बन्ना गुप्ता भाजपा पर आरोप लगा रहे हैं कि जमशेदपुर के रानीकुदर बवाल में भाजपा का हाथ है. दरअसल कद्दावर नेता हिदायत खान के कांग्रेस छोडक़र जाने से पार्टी बौखला गई है और चाहती है कि मुस्लिम मतों का धु्रवीकरण हो. इसलिये भाजपा पर अनर्गल आरोप लगा रही है. अगर इस बवाल की जानकारी उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं को थी तो वे वहां क्यों नहीं पहुंचे. श्री राय शनिवार को साकची मंडल कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे. श्री राय ने कहा कि आजादनगर में जाकर बन्ना गुप्ता ‘कलमा’ पढ़ते हैं, जिसकी वीडियो फूटेज उनके पास है. ‘कलमा’ का अस्तित्व काफी पवित्र होता है, जिसे कहीं भी नहीं पढ़ा जा सकता है. इसे वे ही पढ़ते हैं, जिन्होंने मुस्लिम धर्म अपना लिया हो. इसलिये बन्ना गुप्ता इस तरह के कार्य कर हिन्दू व मुस्लिम, दोनों धर्म के लोगों को धोखा दे रहे हैं. इसलिये उन्हें यह साबित करना चाहिये कि कलमा पढऩेवाले हिन्दू हैं या नहीं. संवाददाता सम्मेलन में भाजपा जिलाध्यक्ष नंदजी प्रसाद, कमल किशोर तथा साकची मंडल अध्यक्ष उमाशंकर सिंह भी मौजूद थे.  जमीन स्थानांतरण कर कोई एहसान नहीं किये श्री राय ने कहा कि कृषि मंत्री ने मानगो की उक्त जमीन बिजली ग्रिड के लिये जमीन स्थानांतरण करवाकर कोई एहसान नहीं किये हैं. इस संबंध में तो गत 21 अगस्त को ही जिला प्रशासन, कृषि विभाग के सचिव को पत्र लिख चुका था. इसके पूर्व श्री गुप्ता कभी उक्त भूखंड के विषय में जानते तक नहीं थे. इसलिये उनके पास इसके स्थानांतरण के सिवा कोई चारा ही नहीं था. उन्हें अब यह बताना चाहिये कि उसी स्थान पर डेयरी डेवलपमेंट का जो शिलान्यास हुआ था, उसका क्या हुआ.  टेंडर निकल चुके सडक़ों को दी जा रही स्वीकृति श्री राय ने आरोप लगाया कि शनिवार को छुट्टी होने के बावजूद विकास आयुक्त के कार्यालय में लगभग 600 करोड़ रूपये लागत की वैसे सडक़ों को स्वीकृति दी जा रही थी, जिसका टेंडर पहले ही हो चुका है. यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही टेंडर निकाला जा रहा है, लेकिन पदों का दुरूपयोग करते हुए कुछ अफसर इस तरह के अनैतिक कार्यों में लगे हुए

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More