ईई उमेश दास की गिरफ्तारी को लेकर सेकड़ों महिलाओ ने किया मुख्य सड़क जाम

36

दोपहर एक बजे से देर रात तक लगा रहा जाम
थानेदार की मान मनोवल भी नहीं चली उग्र महिलाओ के सामने
संवाददाता, जमशेदपुर,05 अगस्त
घाटशिला के विद्युत कार्यपालक अभियंता उमेश दास को अविलंब गिरफ्तार करने की मांग एवं उसे सेवा से निष्काशीत करने की मांग को लेकर मंगलवार दोपहर करीब एक बजे मांझी परगना महाल के नेतृत्व मे हाता मुसाबानी मुख्य सड़क को जादूगोड़ा सीदों कानहु चौक के समक्ष पूरी तरह जाम कर दिया इस दरम्यान सेकड़ों की संख्या मे आदिवासी महिला एवं जादूगोड़ा के कई महिला समिति की सदस्य मौजूद थी उन्होने जाम का समर्थन किया और ईई की गिरफ्तारी की मांग की ।
जामकरता बहादुर सोरेन एवं सुधा रानी बेसरा ने बताया की जब तक ईई उमेश को प्रशासन गिरफ्तार नहीं करती है और विभाग उसे निष्काशीत नहीं करती है तब तक जाम नहीं हटाया जाएगा ।
जाम के कारण दोनों और मुसाबानी और हाता की और करीब एक किलोमीटर से अधिक लंबी गाड़ियो की कतार लग गयी । जमा करने वाले मुख्य सड़क पर जमीन पर बैठकर ही जाम एवं आंदोलन कर रहे है । जाम की जानकारी मिलते ही जादूगोड़ा पुलिस बल ने जाकर जाम हटाने की अपील की लेकिन आक्रोशित महिलाओ के सामने पुलिस की एक ना चली ।
क्या है मामला
जादूगोड़ा डूंगरिडीह निवाशी महिला पार्वती मुरमु का विद्युत विपत्र अचानक से बहुत अधिक भेज दिया गया जिसमे संसोधन के लिए पार्वती जादूगोड़ा विद्युत कार्यालय से लेकर करनडिह विद्युत कार्यालय तक दौड़ती रही की इसी बीच कारणडीह मे उन्हे किसी ने बताया की मामले मे घाटशिला के ईई उमेश दास मदद कर सकते है जिसके बाद महिला 22/7/2014 को उमेश दास से मिली उमेश दास ने महिला का फोन नंबर ले लिया और महिला से फोन पर अश्लील बात करने लगा और अनैतिक काम के लिए दवाब डालने लगा महिला ने इसकी जानकारी जादूगोड़ा के महिला समिति को दिया और सभी ने 24/07/2014 को घाटशिला जाकर ईई से मिले ईई उमेश सिंह घाटशिला मे भी महिला को छेड़ने लगा और अपने पास बैठने को कहने लगा इसके बाद महिला समूह एवं पार्वती मुरमु ने उमेश दास की जमकर पिटाई कर दी , मामला थाना पहुंचा और महिला ने घाटशिला थाना मे उमेश दास के खिलाफ मामला दर्ज़ करवाया वहीं दूसरी और उमेश दास ने भी महिला पर मामला दर्ज़ करवाया ।
इस मामले मे महिला ने 27/07/2014 को मांझी परगना महाल के समक्ष एक लिखित आवेदन देकर सामाजिक सहयोग एवं न्याय की मांग की जिसके बाद मांझी परगना महाल ने महाल भवन फावड़ा मे 1/8/2014 शुक्रवार को एक बैठक रखा जिसमे दोनों पक्षो को बुलाया गया लेकिन इस बैठक मे उमेश दास नहीं गए , महाल ने पूरे मामले की जांच कर पाया की उमेश दास इसमे दोषी लग रहे है और इस बैठक मे ही निर्णय लिया गया की अगर 72 घंटा के अंदर उमेश दास की गिरफ्तारी नहीं होगी तो जादूगोड़ा सीन्हो कान्हु चौक को जाम कर दिया जाएगा और इसी के अंतर्गत मंगलवार को मुख्य सड़क को जाम कर दिया गया ।
महाल की मांग है की उमेश दास को अविलंब गिरफ्तार किया जाए और महिला पर किए गए झूठा केस को वापस लिया जाए इस संबंध मे महाल ने राज्यपाल के नाम एक आवेदन भी प्रेषित किया ।
मंगलवार को करीब 12 बजे के आस-पास पूर्व नियोजित कार्यक्रम के अंतर्गत विभिन्न गांवो के मांझी बाबा एवं ग्राम प्रधान बगलासाई भवन मे जमा हुए और यही से जुलूस की शक्ल मे जादूगोड़ा चोक पहुँचकर मुख्य सङक जाम कर दिया , इस दौरान महिलाओ ने हाथो पर तख्तियाँ भी पकड़ रखी थी जिसपर लिखा हुआ था की गरीब आदिवासी महिला के साथ अश्लील हरकत करने वाले ई ई को अविलंब गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए ।इन सब को देखते हुए ऐसा लग रहा है की उमेश दास की मुसीबत बढ्ने लगी है ।जाम मे यूसिल के यूरेनियम ओर लदे डंपर भी फंस गए जिससे यूसिल को भी नुकसान होने का अनुमान है ।
जाम के दौरान मुसाफिरो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था मुसाबानी निवासी एमडी एहसान एवं एमडी अशरफ को पैदल ही मुसाबानी की ओर जाते हुए देखा गया उन दोनों ने बताया की जाम के कारण कई लोगो का जरूरी काम बाधित हो गया और बच्चे और बुजुर्गो को भी पहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था ।
समाचार लिखे जाने तक जाम लगा हुआ था ।
जाम मे कौन कौन थे शामील
बहादुर सोरेन देश विचार , सुधीर कुमार सोरेन जिला सचिव , मधु सोरेन जिला सचिव , डसमत हांसदा परगना , शाखी मुरमु प्रखण्ड सचिव , सुफल मुंरमु जिला सदस्य , सुधीर टूडू मांझी बाबा , संग्राम हेंबरम मांझी बाबा , सुधा रानी बेसरा , शोभा रानी हांसदा , सुनील टूडू मांझी बाबा , दुर्गा चरण मुरमु मांझी बाबा , श्याम दास सोरेन मांझी बाबा , एवं सेकड़ों महिला पुरुष मौजूद थे जो देर रात तक डटे हुए थे ।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More