जमशेदपुर -दुर्गा पूजा पंडालों को बाहर से काले कपड़े से ढकना हिन्दू धर्म के विरुद्ध-,अरूण सिंह

96

जमशेदपुर।

झारखंड सरकार के द्वारा दुर्गा पूजा के लिए जारी गाइडलाइन में अनेकों हिन्दू धर्म विरोधी दिशा निर्देश दिए गए हैं। झारखंड के सभी हिन्दू धर्मावलम्बियों ने उस गाइडलाइन के अधिक से अधिक बिन्दुओं का पालन करते हुए दुर्गा पूजा का आयोजन किया है।परंतु कल से देखा जा रहा है पूरे झारखंड की पुलिस प्रशासन अपने अपने जिला मे हो रहे दुर्गा पूजा समितियों एवं पडालो पर शक्ती वर्त रही है।प्रशासन के द्वारा दुर्गा पूजा आयोजकों को पूजा के बाद केश करने की घमकी दी जा रही है।एवं दुर्गा पूजा पंडालों को काले कपड़े से ढकवाने का काम किया जा रहा है। आप सबों को वृदित हो कि हिन्दू धर्म के अनुसार किसी भी हिन्दू धार्मिक स्थल एवं दुर्गा पूजा पडालो को काले कपड़े से ढकना हिन्दू धर्म के विरुद्ध हैं।फिर भी झारखंड की सरकार ने ऐसा फरमान हम हिन्दुओं के धार्मिक भावनाओं को कुचलने का प्रयास कर रही है।
वहीं दूसरी तरफ झारखंड सरकार के मुख्यमंत्री के साथ अन्य मंत्री भी कोविड 19 के नियमों का पालन नही किया जा रहा है।खुद आपदा प्रबंधन विभाग के मंत्री श्री बन्ना गुप्ता जी ने आज सोशल मीडिया पर कुछ अपनी तस्वीरें जारी की है।इस तस्वीर में माननीय मंत्री ने ना तो मास्क पहनें हैं और ना ही सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा गया है।
मैं झारखंड सरकार से यह पूछना चाहता है कि क्या कोविड 19 का नियमों का पालन सिर्फ दुर्गा पूजा के आयोजकों को करनी है या सरकार के माननीय मंत्रीयों को भी करनी है।
मैं सरकार से मांग करता हूँ कि अगर दुर्गा पूजा आयोजक कोविड 19 या दुर्गा पूजा के लिए ज़ारी दिशानिर्देशो का उल्लंघन करते हैं तो उन पर प्रशासन केस दर्ज करेगी,तो फिर झारखंड के माननीय मंत्री जी कोविड 19 के नियमों का उल्लंघन कर रहें हैं तो उन पर कौन कारवाई करेगा।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More