रांची-स्वच्छता से ही स्वस्थ व समृद्ध भारत का होगा निर्माण : ललित दास

76

रांची ।

मारवाडी कॉलेज, रांची की ’राष्ट्रीय सेवा योजना‘ इकाई द्वारा आयोजित ’स्वच्छ भारत और समृद्ध भारत‘ विषय पर सात दिवसीय शिविर का उद््घाटन मुख्य अतिथि के रूप में सामाजिक संस्था ’समर्पण‘ के संयोजक श्री ललित दास, विशिष्ट अतिथि के रूप में महावीर मंडल, रांची के अध्यक्ष श्री राजीव रंजन मिश्रा एवं सम्मानित अतिथि रांची विश्वविद्यालय के एन.एस.एस. समन्वयक डॉ प्रकाश झा ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया।
मौके पर मुख्य अतिथि के पद से बोलते हुए श्री दास ने कहा कि हमें अपने घर की सफाई के साथ-साथ सार्वजनिक स्थलों पर सफाई की ध्यान रखनी चाहिए। जहां-तहां गंदगी नहीं फैलाना चाहिए। अगर देश स्वच्छ होगा, तो देशवासी स्वस्थ होंगे और स्वच्छ एवं स्वस्थ भारत, एक समृद्ध भारत के रूप में खडा होगा। उन्होंने कहा कि हम आज शपथ लें कि हम अपने समाज, राज्य एवं राष्ट्र को स्वच्छ बनाकर देश को समृद्धि की ओर ले जायेंगे।
मारवाडी कॉलेज, रांची के प्राचार्य डॉ ए.के. मलकानी ने कहा कि जीवन में बहुत सारे आयाम हैं, उसमें स्वच्छता प्रमुख आयाम है। जो व्यक्ति समाज को स्वच्छ बनाकर चलता है, समाज में वह हमेशा प्रतिबिंबित होते रहता है।
रांची विश्वविद्यालय के प्रकाश झा ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना से जुडे हुए व्यक्ति  समाज के प्रत्येक दरवाजे पर जाकर स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करे तो यह योगदान अभियान की सफलता में मील का पत्थर साबित होगा।
मारवाडी कॉलेज, रांची के एन.एस.एस. समन्वयक डॉ प्रकाश कुमार ने कहा कि जीवन जीना एक कला है, जिसमें स्वच्छता मूल मंत्र के रूप में कार्य करती है। हमें अपने जीवन के हरेक दिन से कुछ समय निकाल कर अपने राष्ट्र को स्वच्छ बनाते हुए समृद्धि की ओर ले जाने का प्रयास करना चाहिए। डॉ प्रकाश ने कहा कि यह शिविर 27 मार्च से 2 अप्रैल 2॰17 तक कॉलेज प्रांगण में चलेगा। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता मारवाडी कॉलेज, रांची के प्राचार्य डॉ अजय कुमार मलकानी एवं धन्यवाद ज्ञापन डॉ प्रकाश कुमार ने किया।
इस अवसर पर मुख्य रूप से मारवाडी कॉलेज, रांची के महिला प्रभाग की प्रोफेसर इंचार्ज डॉ एलिस, डॉ विनय भगत, सभी विभागों के शिक्षक, कर्मचारी एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More