मधूबनी -मैट्रिक परिक्षा एक मार्च से,जिला प्रशासन ने की तैयारी

42

 

राजकुमार झा।

मधुबनी
वार्षिक माध्यमिक परीक्षा-2017 दिनांक 01 मार्च,17 से प्रारंभ होकर दिनांक 8 मार्च, 2017 को समाप्त होगी। इस परीक्षा के अवसर पर मधुबनी जिला में कुल 72 परीक्षा केंद्र निर्धारित किए गए है। परीक्षा प्रतिदिन प्रथम पाली में 9ः30 बजे पूर्वा0 से प्रारंभ होकर 12-45 बजे अप0 तक एवं द्वितीय पाली में 2ः00 बजे अप0 से प्रारंभ होकर 5.15 बजे अप0 तक संपन्न होगी।
इस परीक्षा के अवसर पर मुख्य जिला परीक्षा नियंत्रक जिला पदाधिकारी, मधुबनी को तथा जिला परीक्षा नियंत्रक, जिला षिक्षा पदाधिकारी, मधुबनी को नामित किया गया है।
जिला पदाधिकारी, मधुबनी श्री गिरिवर दयाल सिंह ने आज सभी केंद्रधीक्षक के साथ डी0आर0डी0ए0 सभा कक्ष में बैठक की । बैठक में सभी एस0डी0ओ0, एस0डी0पी0ओ0 आदि उपस्थित थे।
जिला पदाधिकारी द्वारा दिए गए निदेष निम्न हैः-
(1) केंद्र पर प्रतिनियुक्त स्टैटिक दंडाधिकारी की यह जिम्मेंवारी होगी कि केवल परीक्षार्थियों को ही परीक्षा केंद्र के मुख्य द्वार पर उनके प्रवेष-पत्र देखकर तथा अच्छी तरह चिट-पुर्जो की जांच कर अंदर जाने देेंगे।
(2) जिला के सभी परीक्षा केंद्र से प्रतिदिन परीक्षा के उपरांत दोनों पाली की व्यवहृत उतर पुस्तिकाओं को विषय वार/पालीवार सुरक्षित रखवाने हेतु प्रथम पाली का अलग वज्रगृह तथा द्वितीय पाली के लिए अलग वज्र्रगृह वाटसन उच्च विद्यालय में बनाया गया है।
(3) उतर पुस्तिकाओं की बार कोडिंग होने के बाद अपर समाहर्ता सह-चीफ सेक्रेसी ऑफिसर उसी दिन बारकोडेड उतर पुस्तिकाओं को बज्र्र्र्रगृह में वापस रखवाना सुनिष्चित करेंगे।
(4) सभी वीक्षक प्रत्येक पाली की परीक्षा प्रारंभ होने के पूर्व विहित धोषणा-पत्र में यह अंकित करेगे कि उनके प्रभार के अंतर्गत 25 अथवा कम परीक्षार्थियों की जांच उनके द्वारा कर ली गई है।
(5) सभी परीक्षा केंद्र के 500 गज की परिधि में संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 परीक्षा अवधि के लिए लागू कर दी गई है।
(6) जिला मुख्यालय एवं सदर अनुमंडल के सभी परीक्षा केंद्र पर स्वच्छ एवं कदाचारमुक्त परीक्षा संचालन कराने के उद्धेष्य से 06276-222201 दूरभाष संख्या पर नियंत्रण कक्ष कार्यरत रहेगा।
(7) परीक्षा कक्ष के अंदर यदि किसी परीक्षार्थी के पास चिट पुर्जा पाया जाता है, तो वह नकल माना जाएगा। भले ही परीक्षा प्रारंभ होने का समय नहीं हुआ हो।
(8) देष की नजर बिहार की परीक्षाओ पर है।
(9) केंद्राधीक्षक को यदि किसी वीक्षक की गतिविधि संदेहास्पद दिखती हो, उसे तुरंत बदलवायें।
(10) लड़का-लड़की परीक्षार्थी में कोई भेद नहीं करना है।
(11) प्रष्न -पत्र सही समय पर बैंक से आ जाना चाहिए।
(12) नकल करके पास होने से अच्छा है, फेल हो जाना ।
(13) मुख्य द्वार पर जॉच पड़ताल की विडियोग्रफी जरूर करायें।
(14) यदि किसी परीक्षार्थी के एडमिट कार्ड में दिये फोटो से चेहरा नहीं मिल रहा है, तो उसे परीक्षा देने दें। लेकिन इसकी सूचना केंद्राधीक्षक स्टैट्रिट मजिस्टेड, उड़नस्तादल, संबंधित एस0डी0ओ0 को जरूर दें।
(15)कोई भी अनधिकृत व्यक्ति, चाहे वह स्कूल के मालिक ही क्यो न हो, परीक्षा अवधि में कें्रद्र के अंदर प्रवेष नहीं कर पाएंगे।

वार्षिक माध्यमिक परीक्षा में मधुबनी जिले में कुल 72,436 परीक्षार्थी सम्मिलित हो रहे है।
इसमें 35,969 छात्र हैं तथा 36,467 छात्राएं है। कुल 72 परीक्षा केंद्र में 35 छात्रों के परीक्षा केंद्र तथा 37 छात्राओं के परीक्षा केंद्र है। मधुबनी अनुमंडल में 37 परीक्षा केंद्र, बेंनीपटट्री में 7, जयनगर में 5, झंझारपुर में 15 तथा फुलपरास अनुमंडल में 8 परीक्षा केंद्र बनाए गए है। बेनीपटट्री, जयनगर तथा फुलपरास अनुमंडल में सभी केंद्र छात्राओं के लिए है। मधुबनी अनुमंडल में 35189 परीक्षार्थी, बेनीपट्रटी में 6779, परीक्षार्थी, जयनगर अनुमंडल में 5653 परीक्षार्थी, झंझारपुर में 16,692 परीक्षार्थी तथा फुलपरास में कुल 8114 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित हो रहें है।
जिला पदाधिकारी ने सबों को कदाचारमुक्त परीक्षा तथा होली की शुभकामना भी दी।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More