भारतीय रेलवे की ईस्‍टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरि‍डोर के भाऊपुर-मुगलसराय सेक्‍शन के र्नि‍माण की पूर्व योग्‍यता के लि‍ए बढ़चढ़कर हि‍स्‍सेदारी

ईस्‍टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरीडोर परि‍योजना के भाऊपुर मुगलसराय सेक्‍शन पैकेज 201 और 202 (400 कि‍मी मार्ग) के पटरी बि‍छाने और नि‍र्माण कार्य के ठेके की बोली प्रक्रि‍या की पूर्व योग्‍यता में भारतीय अग्रणी कंपनि‍यों सहि‍त संयुक्‍त उपक्रम में कुल 16 अंतर्राष्‍ट्रीय कंपनि‍यां सफल रही हैं।

बोली प्रक्रि‍या में वि‍श्‍व भर की फर्म/ठेकेदार बढ़चढ़कर भाग ले रहे हैं। भारत के अलावा जि‍न देशों की कंपनि‍यां बोली पेश करने के लि‍ए योग्‍य पाई गई हैं वे हैं तुर्की, कोरि‍या, ताईवाइन, चीन, मैक्‍सि‍को, ब्राजील, रूस और ब्रि‍टेन। कुछ फर्मों के नाम हैं इसोलक्‍स कोरसन कोरवि‍यम-सद्भाव – ईसीआई (जेवी), गेमन-युकसेल (जेवी), पोसको – पीएनसी (जेवी), चीन रेलवे ब्‍यूरो ग्रुप कॉरपोरेशन, एस्‍सार-केईसी-सक्‍यर कन्‍सोरटि‍यम, एजी-एफकोन्‍स (जेवी), पीईएल-बीएससीपीएल-सीजीएस (जेवी), इत्‍यादि‍।

जैसा कि‍ वि‍दि‍त है कि‍ वि‍श्‍व बैंक ने तीन चरणों में वि‍भक्‍त ईस्‍टर्न कॉरि‍डोर परि‍योजना के मुगलसराय से लुधि‍याना भाग के वि‍त्‍ति‍य पोषण के लि‍ए सि‍द्धांत रूप में सहमती दी है। कुल 2.725 बि‍लि‍यन अमरि‍की डॉलर के मूल ऋण में से पहले चरण के लि‍ए 97 करोड़ 50 लाख अमरि‍की डॉलर का ऋण मई 2011 में स्‍वीकृत कि‍या गया था और अक्‍तूबर 2011 में ऋण समझौते पर हस्‍ताक्षर हुए थे। दूसरे चरण के लि‍ए 1100 मि‍लि‍यन डॉलर स्‍वीकृत होने की आशा है और इस समझौते पर जून 2014 में हस्‍ताक्षर हो सकते हैं।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More