प्रधानमंत्री ने केन्‍द्रीय सशस्‍त्र पुलिस बल आयुर्विज्ञान संस्‍थान की आधारशिला रखी

बीजेएनएन व्यूरों नई दिल्ली,26 फरवरी

प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने आज नई दिल्‍ली में केन्‍द्रीय सशस्‍त्र पुलिस बलों के आयुर्विज्ञान संस्‍थान का शिलान्‍यास किया।

इस अवसर पर गृह मंत्री श्री सुशील कुमार शिन्‍दे ने बताया कि केन्‍द्रीय सशस्‍त्र पुलिस बलों के लिए यह संस्‍थान आपने आप में पहला होगा। इसमें 500 बिस्‍तर वाला सामान्‍य अस्‍पताल, 300 बिस्‍तर वाला सुपर स्‍पेशलिटी अस्‍पताल, नर्सिंग कॉलेज और स्‍कूल ऑफ पैरामैडिक्‍स शामिल होगा।

उन्‍होंने यह भी बताया कि अभी केन्‍द्रीय सशस्‍त्र पुलिस बलों में प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य की देखभाल बटालियन स्‍तर पर की जाती है। इसके बाद की स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल मुख्‍यालयों में स्थित 38 कम्‍पोजिट अस्‍पतालों में मुहैया की जाती है। सीएपीएफ कार्मिकों तथा उनके परिवारजनों को विशिष्‍ट देखभाल मुहैया करने के लिए कोई चिकित्‍सा संस्‍थान या सुपर स्‍पेशलि‍टी अस्‍पताल नहीं था। ऐसे संस्‍थान की आवश्‍यकता काफी समय से महसूस की जा रही थी। उन्‍होंने जानकारी दी कि डीडीए ने सीएपीएफआईएमएस भवन के निर्माण के लिए 51.41 एकड़ भूमि का आवंटन किया है। इस परियोजना पर 1368 करोड़ रूपये की कुल लागत आएगी। इस संस्‍थान में एमबीबीएस, पीजी डिग्री, पीजी डिप्‍लोमा, डॉक्‍टर ऑफ मेडिसन एवं मास्‍टर ऑफ सर्जरी के पाठ्यक्रम संचालित किये जाएंगे और लगभग 200 विद्यार्थि‍यों को इन पाठ्यक्रमों में प्रवेश दिया जाएगा। इस संस्‍थान में 60 सीटें नर्सिंग पाठ्यक्रमों के लिए तथा 300 सीटें पैरामैडिक्‍स के लिए होंगी।

श्री शिन्‍दे ने यह आशा जताई कि यह संस्‍थान सेवारत कार्मिंकों के साथ-साथ सेवानिवृत्‍त कार्मिंकों तथा उनके परिवार वालों को विशेषज्ञ चिकित्‍सा मुहैया करने में सहायक होगा।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More