नई दिल्ली-रेल मंत्री ने दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन पर अंत्योदय एक्सप्रेस के डिब्बे राष्ट्र को समर्पित किए

नई दिल्ली।

रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने आज अंत्योदय एक्सप्रेस के 22 डिब्बों की नई रेक का निरीक्षण किया। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन श्री ए. के. मित्तल, सदस्य (यातायात) श्री मोहम्मद जमशेद, सदस्य (रोलिंग स्टॉक) श्री रविंद्र गुप्ता, सदस्य (ट्रैक्शन) श्री ए. के. कपूर, रेलवे बोर्ड के अन्य सदस्य और उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक श्री आर. के.  कुलश्रेष्ठ तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस अवसर पर मौजूद थे। श्री प्रभु ने नई अंत्योदय रेक की सराहना की है और इसे देश की आम जनता को समर्पित किया।

रेल गाड़ियों में यात्री सुविधाओं के स्तर में सुधार करने के लिए लगातार प्रयासों और एक मजबूत ब्रांड का सृजन करने के लिए रेलमंत्री श्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने रेल बजट भाषण 2016-17 में यह घोषणा की थी कि इस सरकार का सचमुच मानना ​​है कि आम आदमी के जीवन में सुधार लाए बगैर भारत का भाग्य नहीं बदलेगा। आम आदमी न केवल हमारे नीति निर्माण का केंद्र बिंदु है बल्कि सार्वजनिक बहस और हमारी विचार धारा में भी सर्वव्यापी है। हम आम आदमी के लिए सघन मार्गों पर चलाई जाने वाली लंबी दूरी की पूरी तरह अनारक्षित,सुपरफास्ट ट्रेन सेवा शुरू करने का प्रस्ताव करते हैं। इस संबंध में 22 अंत्योदय डिब्बे इंटेग्रल कोच फैक्ट्री, चेन्नई में तैयार किए गए।

ये डिब्ब पूरी तरह अनारक्षित एलएचबी द्वितीय श्रेणी के हैं जिनमें निम्नलिखित अतिरिक्त सुविधाओं उपलब्ध कराई गई हैं : –

 

  • कुशन लगी सामान रैक जो सीटों के रूप में प्रयोग की जा सकती हैं।
  • डूरवे क्षेत्र में अतिरिक्त हैंडहोल्ड्स लगे हैं।
  • सामान रैक के पास जे-हुक लगाए गए हैं।
  • डिब्बे के दोनों सिरों पर मल्टीपल यूनिट केबल लगाए गए हैं।
  • डिब्बों में यात्रियों की आंतरिक आवाजाही के लिए गलियारे की व्यवस्था।
  • पीने योग्य पानी की मशीन
  • मोबाइल चार्जिंग प्वाइंट
  • चोरी रोकने के लिए ताले लगे अग्निशमन यंत्र
  • एफआरपी (फाइबर प्रबलित प्लास्टिक) मॉड्यूलर शौचालय
  • सुखदायक इंटीरियर रंग योजना
  • शौचालय प्रयोग में होने की सूचना देने वाला डिस्प्ले बोर्ड
  • एलईडी लाइट्स
  • डोरवे और गैंगवे में एसएस स्लिप फ्री फर्श
  • बाह्य पेंटिंग के लिए रोधी भित्तिचित्र कोटिंग
  • रेल मंत्रालय ने निम्नलिखित अंत्योदय एक्सप्रेस ट्रेनों की पहचान की है, जिन्हें चरणबद्ध रूप से  शुरू किया जाएगा :

     

    1. 15567/15568 दरभंगा – जालंधर सिटी अंत्योदय एक्सप्रेस (साप्ताहिक)
    2. 22885/22886 लोकमान्य तिलक (टी) – टाटानगर अंत्योदय एक्सप्रेस (सप्ताह में दो बार)
    3. 22841/22842 सांतरागाची – चेन्नई सेंट्रल अंत्योदय एक्सप्रेस (साप्ताहिक)
    4. 22895/22896 बिलासपुर – फिरोजपुर अंत्योदय एक्सप्रेस (साप्ताहिक)
    5. 22921/22922 बांद्रा (टी) – गोरखपुर अंत्योदय एक्सप्रेस (साप्ताहिक)
    6. 22877/22878 हावड़ा – एर्नाकुलम अंत्योदय एक्सप्रेस (साप्ताहिक)
    7. 15563/15564 जयनगर – उधना अंत्योदय एक्सप्रेस (साप्ताहिक)

     

     

    यात्री जनता को सस्ते मूल्य पर बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए अंत्योदय एक्सप्रेस गाड़ियों की शुरूआत भारत रेलवे के प्रयास में एक प्रमुख कदम होगा। इससे भारतीय रेलवे एक मजबूत ब्रांड के रूप में उभरेगी।

     

     

 

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More