नई दिल्ली -नेपाल भूकंप पर अपडेट

 नई दिल्ली।

 शनिवार की सुबह 11 बज कर 41 मिनट पर समूचे नेपाल और उत्‍तरी भारत के राज्‍यों में भूकंप आया, रिक्‍टर पैमाने पर जिसकी तीव्रता 7.9 थी। इसके बाद भूकंप के कई और झटके आए। भूकंप का केंद्र नेपाल के काठमांडू के समीप था। आज दोपहर 12 बज कर 36 मिनट पर भूकंप आया जिसका केंद्र नेपाल के काठमांडू से 130 किलोमीटर दूर था और जिसकी तीव्रता रिक्‍टर पैमाने पर  6.9 मापी गई। भारत के ज्‍यादातर हिस्‍सों में भूकंप के झटके महसूस किए गए।

 

इन झटकों के बाद राष्‍ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) ने सभी साझेदारों के साथ समन्‍वय की शुरुआत की है और निम्‍नलिखित गतिविधियां संयोजित की हैं-

 

बचाव एवं राहत कार्य

भारतएनडीआरएफ की चार टीम तैनात की गई है, बिहार के गोपालगंज, मोतीहारी, सुपौल और दरभंगा जिले में एक-एक टीम की तैनाती की गई है और उत्‍तर प्रदेश के गोरखपुर में एक टीम तैनात की गई है।

 

कल आए भूकंप के बाद हताहतों की संख्‍या और अन्‍य नुकसान की विस्‍तृत जानकारी-बिहार: राज्य के विभिन्‍न हिस्‍सों में भूकंप के कारण 42 लोगों की जान गई है, 156 लोग घायल हुए हैं और 53 घर पूरी तरह क्षतिग्रस्‍त हुए बताए जा रहे हैं।

 

उत्‍तर प्रदेश: राज्‍य के विभिन्‍न हिस्‍सों में 12 लोगों की जान गई है, 46 लोग घायल हुए हैं। 4 घरों/बिल्डिंग राज्‍य में आंशिक रूप से क्षतिग्रस्‍त हुए हैं।

 

 

पश्चिम बंगाल: दो लोग गंभीर रूप से हताहत हुए हैं और 52 लोगों के घायल होने की खबर है। तीन घर पूरी तरह क्षतिग्रस्‍त हुए हैं और 183 घर/बिल्डिंग को आंशिक क्षति पहुंची है।

 

सिक्किम: 8 लोग घायल हुए हैं और 61 घर/बिल्डिंग आंशिक रूप से क्षतिग्रस्‍त हुए हैं।

 

राजस्‍थान: यहां एक बच्‍चे की जान जाने की खबर है।

 

भूकंप के कारण भारत में कुल 57 लोगों की जान गई है, 262 लोगों के घायल होने की खबर है और 56 घरों/बिल्डिंग पूरी तरह क्षतिग्रस्‍त हुए हैं जबकि 248 घरों/बिल्डिंग को आंशिक रूप से नुकसान पहुंचा है।

 

नेपालअभी एनडीआरएफ के सात टीम की तैनाती नेपाल में की गई है। दो-दो टीम ललितपुर और काठमांडू धाटी के जिले में तैनात किए गए हैं जबकि तीन टीम की तैनाती नेपाल के बक्‍तापुर में की गई है।

 

राहत के सामान

  • 31 मेडिकल कर्मचारी, 13 डॉक्‍टर और 18 पैरामेडिक्‍स के साथ दो टन आवश्‍यक दवाइयां भेजी गई हैं।
  • 4.5 टन भोजन और 4.5 टन दवाइयां 26 अप्रैल 2015 को भेजी गई हैं।
  • 40 टन पानी भेजा गया है।
  • 100 स्‍ट्रेचर भी भेजे गए हैं।
  • 35,000 भोजन के पैकेट भी भेजे गए हैं।

 

सभी मीडिया हाउस से अनुरोध है कि वे इस संदेश को लोगों तक पहुंचाएं ताकि कोई अफवाह न फैले और जनता ऐसे किसी अफवाह पर ध्‍यान न दे कि पानी या कोई और वस्‍तु दूषित है।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More