दुमका- झारखण्ड को झारखण्ड नामधारी पार्टियों ने बर्बाद किया है- रघुवर दास

51

दुमका।

अनुसूचित जनजाति मोर्चा की प्रमंडलीय सम्मेलन कार्यक्रम का आयोजन इन्डोर स्टेडियम दुमका में किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री  रघुवर दास ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम की विधिवत शुरूआत की इस दौरान कार्यकर्ताओं ने माला पहनाकर मुख्यमंत्री का स्वागत किया इस दौरान माननीय मुख्यमंत्री  रघुवर दास के साथ समाज कल्याण मंत्री डा लोईस मरांडी, कृषि मंत्री रणधीर सिंह, विधायक सह अनुसूचित जनजाति मोर्चा के अध्यक्ष राम कुमार पाहन, विधायक सीता सोरेन, भजपा प्रवक्ता सह टीएसी सदस्य जे बी तुबिद, पूर्व विधायक हेमलाल मुर्मू आदि थे।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए  मुख्यमंत्री  रघुवर दास ने कहा कि झारखण्ड को झारखण्ड नामधारी पार्टियों ने बर्बाद किया है। उन्होंने कहा कि इन झारखण्ड नामधारी पार्टियों का उद्देश समाज का विकास नहीं बल्कि अपना विकास करना था। उन्होंने कहा कि झारखण्ड के साथ तीन राज्यों का गठन हुआ था जिनमें दो राज्यों में स्थानीय नीति लागू कर दी गई है। लेकिन झारखण्ड में स्थानीय नीति आदिवासी मूलवासी को यहां के नेताओं ने सिर्फ वोट बैंक के लिए इस्तेमाल किया है। उन्होंने कहा कि इन पार्टियों के द्वारा सिर्फ राज्य के विकास को ही बाधित नहीं किया बल्कि बच्चों के भविष्य के साथ भी खिलवाड़ किया जा रहा था। लेकिन झारखण्ड नामधारी पार्टियां सुन ले अब ऐसा होने नहीं जा रहा है। उन्होंने कहा कि झारखण्ड लगातार विकास की ओर बढ़ता जा रहा है और बढ़ता रहेगा। उन्होंने कहा कि 18 हजार शिक्षकों की नियुक्ति हो चुकी है और 45 हजार की नियुक्तियां और होने जा रही है। उन्होंने कहा कि भाषा संस्कृति और परम्परा हमारी पहचान है। इसलिये झारखण्ड की भाषा संस्कृति और परम्परा हमारी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द भाषा आधारित शिक्षक की नियुक्तियां की जायेगी ताकि प्राथमिक शिक्षा के लिए झारखण्ड में बोले जाने वाले सभी भाषाओं खासकर आदिवासी समुदाय में बोले जाने वाले भाषाओं के द्वारा बच्चों को पढ़ाया जायेगा। उन्होंने कहा कि पिछले 67 सालों में इन नामधारी पार्टियों के द्वारा एक मेडिकल काॅलज का शुभारंभ गलती से किया गया था लेकिन हमारी सरकार ने दो वर्षों में ही 300 बच्चों के एमबीबीएस पढ़ाई के लिए तीन नये मेडिकल काॅलेज खोल दिये गये। उन्होंने कहा कि झारखण्ड समस्याओं से घिरा हुआ प्रदेश है उन्होनं कहा कि झारखण्ड राज्य गरीब नहीं है यहां के लोग गरीब हैं। उन्होंने कहा कि इस गरीबी को समाप्त करना हमारी सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि झारखण्ड की जनता ने सेवा करने का अवसर मुझे दिया है और मैं पूरी उम्र झारखण्ड के जनता के सेवक के रूप में कार्य करना चाहूंगा। उन्होंने कहा कि झारखण्ड की जनता के चेहरे पर मुस्कान लाना मेरा लक्ष्य है। उन्होने कहा कि झारखण्ड और यहां के लोगों के विकास के लिए कुछ दिन पूर्व रांची में ग्लोबल समिट का आयोजन किया गया था जिसमें 11 हजार निवेशक जिसमें 600 विदेशी निवेशकों ने झारखण्ड में उद्योग स्थापित करने के लिए अपनी रूची दिखाई। इस समिट से झारखण्ड के अंतिम व्यक्ति तक विकास की किरण पहुंचेगी। उन्होंने कहा कि झारखण्ड और संताल परगना के युवा बेरोजगार होकर इधर उधर भटके और दूसरे राज्यों में पलायन करें यहां की बेटियों को बेच दिया जाय शायद दूसरे लोगों को कोई फर्क न पड़ता हो पर मुझसे यह बर्दास्त नहीं होगा। मैं अंतिम सांस तक झारखण्ड और संताल परगना के लोगों के लिए लड़ता रहूंगा। उन्होने कहा कि सरकार द्वारा कई ऐसी योजनायें और छोटे छोटे उद्योग की स्थापना की जा रही है जिससे यहां के युवाओं को अपने घर को छोड़ कर दूसरे राज्यों में रोजगार के लिए नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि यहां के युवाओं को कौषल विकास कर झारखण्ड में ही रोजगार देना हमारी सरकार की प्राथमिकता है। 800 करोड़ रूपया कौशल विकास के लिए हर जिले में स्कील्ड ट्रेनिंग सेन्टर खोला जायेगा जिसके द्वारा यहां के युवाओं को स्कील्ड बनाये जायेंगा। उन्होने कहा कि सिर्फ डिग्री पा लेने से रोजगार नहीं मिलती हाथ में हुनर का भी होना जरूरी है और उस हुनर के लिए स्कील्ड ट्रेनिंग सेन्टर मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि हमारी सभी नीतियां आदिवासियों के हित में है। हमारी सरकार आदिवासियों को अपने पैरों पर खड़े करने योग्य बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि सरकार किसी भी समाज के जमीन को उनके मर्जी के बिना नहीं ले सकता। लेकिन कुछ नेताओं के द्वारा आदिवासी समाज के भोले भाले लोगों को दिगभ्रमित करने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि अब किसान भाईयों को भी सिंचाई के लिए ज्यादा परेशान नहीं होना पड़ेगा। क्योंकि हमारी सरकार द्वारा 1800 तालाब को बनाने की योजना इस वित्तीय वर्ष तक पूरा कर लिया जायेगा। उन्होने कहा कि मैं अगर मुख्यमंत्री बना हूँ आपकी सेवा करने के लिए। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार गरीबों की सरकार है कोई भी दिक्कत और परेशानी हो तो उसे हमतक पहुंचायें।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये समाज कल्याण मंत्री डा लोईस मरांडी ने कहा कि हमारी पार्टी का एक ही मंत्र है सबका साथ सबका विकास। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार दूसरी पार्टियों की तरह राजनीति करना नहीं जानती हमारे सरकार का लक्ष्य समाज के अंतिम व्यक्ति तक विकास के किरण को पहुंचाना है। उन्होने कहा कि आज हमारी सरकार आदिवासी समाज के लिए प्रतिबद्ध होकर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि ऐसी कई पार्टियां हैं जो आज संताल परगना के सीधे साधे लोगों के सामने घड़ियाली आंसू बहाकर लोगों को बहलाने फुसलाने का काम करते आ रही है। उन्होंने कहा कि आजतक इन्हीं नेताओं के कारण संताल परगना का विकास सही तरीके से नहीं हो पाया। उन्होंने कहा कि आज हमारी सरकार और हमारे लोकप्रिय मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास के नेतृत्व में झारखंड के साथ साथ संताल परगना के विकास में तेजी आई है और हमारे सरकार के द्वारा यह विकास निरंतर चलता रहेगा। उन्होंने कहा कि झारखण्ड के इतिहास में आज तक किसी  आदिवासी मुख्यमंत्री ने पदभार ग्रहण करने के बाद संताल परगना की ओर दुबारा मुड़कर नहीं देखा। लेकिन हमारी सरकार द्वारा पहली बार दुमका में अनुसुचित जनजाति मोर्चा प्रमंडलीय कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है जो साफ संताल परगना के विकास के लिए मुख्यमंत्री की प्रतिबद्धता को दर्षाता है।
भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा प्रदेष अध्यक्ष राम कुमार पाहन ने अपने स्वागत सम्बोधन में कहा कि हमारी पार्टी हमारे कार्यकर्ता, हमारे मुख्यमंत्री एवं हम सब आदिवासी समाज के समग्र विकास एवं उनके हक के लिए हमेशा खड़े हैं। उन्होने कहा कि भारतीय जनता पार्टी अन्य झारखण्ड नामधारी पार्टिंयों की तरह नहीं है जो आदिवासी समाज का हक लूटने का काम झारखण्ड के अलग होने के दिनों से करते आ रही है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आदिवासी समाज के लिए काम करते आ रही है और आगे भी करते रहेगी।
भाजपा के पूर्व विधायक सुनील सोरेन ने कहा कि झारखण्ड विभाजन के बाद अगर सबसे ज्यादा किसी ने आदिवासियों के हित के लिए और राज्य को विकास की नई उंचाई तक पहुंचाने का काम किया है तो वह भारतीय जनता पार्टी ही है। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री रघुवर दास आदिवासियों के हित और उनका हक दिलाने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं लेकिन कुछ स्थानीय पार्टियों के द्वारा आदिवासियों को बहकाया जाता है उन्होंने कहा कि आज के समय में विपक्ष का कोई काम नहीं बचा है। विपक्ष के लोग दुष्प्रचार कर रात को चैन की नींद सोते हैं हलांकि आदिवासी समाज अब जाग चुका है और उनके दुष्प्रचार का कोई खास प्रभाव अब नहीं पड़ता। उन्होंने कहा कि यकिन मानिये अगर यही हाल रहा तो संताल परगना के लोग बहुत जल्द इन विपक्ष की पार्टियों को यहां से भगा देंगे।
भाजपा प्रदेष उपाध्यक्ष समीर उरांव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ही मात्र एक ऐसी पार्टी है जो देश के आदिवासी समाज का भला सोचती है। उन्होंने कहा कि समाज जगरूक हो रहा है अब इन्हें कोई बहका नहीं सकता। उन्होंने कहा कि आपलोग सरकार पर विश्वास रखिये। उन्होंने कहा कि आजादी के 70 साल बाद भी आदिवासी समाज का विकास नहीं हो सका है। जिसका मुख्य कारण यह है कि वैसी पार्टियां हैं जो अपने आप को आदिवासियों के हित में काम करने का ढोंग करती है। जबकि सच्चाई यह है कि उन पार्टियों के लोग और उनका मुखिया आदिवासी समाज का नहीं अपना भला करना जानती है।
सम्बोधित करते हुए पूर्व विधायक हेमलाल मुर्मू ने कहा कि झारखण्ड का विकास पिछले दो वर्षों में विकास की एक नये आयाम तक पहुंचा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास के नेतृत्व में झारखण्ड एवं संताल परगना की तस्वीर पूरी तरह बदल चुकी है। उन्होंने कहा कि विपक्ष के लोगों को यह आभास हो चुका है कि संताल परगना के लोग अब जागरूक हो चुके हैं।
अनुसूचित जनजाति मोर्चा की प्रमंडलीय सम्मेलन कार्यक्रम में माननीय मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास के साथ समाज कल्याण मंत्री डा लोईस मरांडी, कृषि मंत्री रणधीर सिंह, विधायक सह अनुसूचित जनजाति मोर्चा के अध्यक्ष राम कुमार पाहन, विधायक गंगोत्री कुजुर, भजपा प्रवक्ता सह टीएसी सदस्य जे बी तुबिद, पूर्व विधायक हेमलाल मुर्मू तथा हजारों की संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More