जे एन टाटा की जयंती पर लगा नेत्र शिविर

जमशेदपुर। सामाजिक दायित्व में टाटा से जुड़ी कम्पनियां कभी पीछे नहीं रहती और वे ऐसे किसी भी मौके को चूकती नहीं जिनमें ऐसे जरूरतमंद लोगों के हित के लिए कुछ होता हो। भारतीय रेड क्रॉस सोसाईटी द्वारा आयोजित नेत्र शिविर हमें यह मौका दे रहा है कि हम सीधे रूप से इस सामाजिक उत्तरदायित्व की भावना से जुड़ सके। उक्त विचार भारतीय उद्योग जगत के जनक जमशेतजी नौसेरवान जी टाटा के 175वीं जयंती के उपलक्ष्य में रेड क्रॉस सोसाईटी, पूर्वी सिंहभूम द्वारा जेमीपोल एवं टाटा स्टील के सहयोग से बागबेड़ा थाना चौक स्थित राम मनोहर लोहिया नेत्रालय में आयोजित 336वें नेत्र शिविर के उदघाटन के अवसर पर टाटा स्टील समुह की कम्पनी जेमीपोल के प्रबंध निदेशक श्री आदर्श अग्रवाल ने व्यक्त किया। उन्होने कहा कि इस कार्य से जुड़े सभी लोग महत्वपूर्ण हैं, जो निरंतर तौर पर अंधापन निवारण के इस कार्य को कर समाज को नयी दिशा दे रहे हैं। उऩ्होने कहा कि ऐसे कार्यों के लिए जेमीपोल हमेशा रेड क्रॉस सोसाईटी का सहभागी रहेगा।
कार्यक्रम में दीप प्रज्जवलित कर नेत्र ज्योति महायज्ञ के उद्घाटन करने के पश्चात सम्मानित अतिथि के रूप में अपनी बात रखते हुए वरीय समाजसेवी व रेड क्रॉस के पेट्रन श्री चन्दूलाल भालोटिया ने कहा कि भारतीय रेड क्रॉस सोसाईटी की पूर्वी सिंहभूम शाखा मानवता की सेवा के क्षेत्र आज एक वट वृक्ष का रूप धारण कर चुका है, उन्होने कहा कि इस कार्य में राम मनोहर लोहिया नेत्रालय और सहयोगी संस्था महत्वपूर्ण सहयोगी बनकर कार्य कर रही है। उन्होने कहा कि समाजहित में यह संस्थाएं इसी तरह आगे भी फलती फुलती और आगे बढ़ती रहे ताकि समाज के जरूरतमंदों को भला हो सके।
रेड क्रॉस के चिकित्सीय टीम के नेतृत्वकर्ता डॉ. बी. पी. सिंह ने अपने विचार रखते हुए कहा कि टाटा दुनिया में अद्वितीय है, जिन्होने अपनी पीढ़ी को यह सीख दी कि उद्योग का विकास उद्योग व आसपास रहने वाले लोगों के विकास व उनकी सुख समृद्धि से जुड़ा है, अतः उद्योग के साथ साथ उसके आस पास रहने वालों का भी ध्यान देना जरूरी है। श्री सिंह ने कहा कि आज अपने इन्ही सिद्धान्तों के कारण टाटा समुह ने 100 वर्षों से अधिक का सफर पूरा किया है।
कार्यक्रम में सम्मानित अतिथि के रूप में उपस्थित टाटा स्टील सोसाईटीज के वरीय प्रबंधक श्री रजनीश कुमार ने कहा कि बागबेड़ा के इस क्षेत्र में पहली बार आकर महसूस हुआ कि यहां क्या कार्य हो रहा है, उन्होने रेड क्रॉस तथा पूरी टीम की प्रशंसा करते हुए कहा कि यहां से जुड़े सभी के कार्य इतने प्रशंसनीय है कि उन्हें शब्दों में रखना मुश्किल है। उन्होने डॉ. बी. पी. सिंह की सराहना करते हुए कहा कि अपने जीवन का महत्वपूर्ण समय उन्होने अंधों को रौशनी देने में लगाया है और इसकी प्रशंसा शब्दों में नहीं व्यक्त की जा सकती।
कार्यक्रम में संयोजक के रूप में उपस्थित अस्मिता जेमीपोल लेडिस एसोसियेशन की अध्यक्ष श्रीमती सोनल अग्रवाल ने कहा कि रेड क्रॉस सोसाईटी के साथ जुड़कर उन लोगों तक हम अपनी सेवा पहुंचाने में सफल हुए जहां इसकी अत्याधिक जरूरत थी, उन्होने कहा कि वे आगे भी इस प्रकार के प्रयास कर जरूरतमंदों को सेवा देने का प्रयास करेगी। उन्होने रेड क्रॉस की टीम के साथ आगे के कार्यक्रमों पर भी विचार किया। कार्यक्रम में जेमीपोल के वरीय पदाधिकारी श्री जयंत राय ने अपने विचार रखते हुए कहा कि जिनकी आंखें नहीं है वे ही इस कमी को जान सकते है। उन्होने कहा कि इस कार्य के माध्यम से लोगों को फिर से दुनिया में वापस लाने का प्रयास किया जा रहा है। कार्यक्रम में अतिथियों का स्वागत राम मनोहर लोहिया नेत्रालय के अध्यक्ष बालमुकुन्द गोयल ने किया तथा संचालन रेड क्रॉस के संयुक्त सचिव अरिजीत सरकार ने किया, अंत में धन्यवाद ज्ञापन रेड क्रॉस के मानद सचिव विजय कुमार सिंह ने किया। आज डॉ. बी. पी. सिंह एवं उनके सहयोगी चिकित्सीय टीम ने 236 नेत्र रोगियों के आंखों की जांच किया, जिसमें से 104 नेत्र रोगियों को ऑपरेशन योग्य चुना गया, जिनका ऑपरेशन एवं लेंस प्रत्यारोपण रविवार 2 मार्च को राम मनोहर लोहिया नेत्रालय के ऑपरेशन थियेटर में डॉ. बी. पी. सिंह, डॉ. जे. एस. बेदी, टी.एम. एच के चिकित्सक डॉ. सुशील बाजोरिया, डॉ. पूनम सिंह एवं उनके सहयोगी चिकित्सीय टीम द्वारा किया जायेगा।

1 Comment
  1. shyam says

    जे आर डी टाटा की जयंती पर लगा नेत्र शिविर
    Wrong Heading its a camp on J N Tata 175th Birthday.

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More