जमशेदपुर-झारखंड आदिवासी कुड़मी समाज समिति ने उपायुक्त कार्यालय पर धऱना दिया

68

 

इस मौके पर राष्ट्रपति के नाम संबोधित एक 19 सूत्री ज्ञापन भी सौंपा

संवाददाता

जमशेदपुरः झारखंड आदिवासी कुड़मी समाज समिति के बैनर तले बड़ी संख्या में कुड़मी समुदाय के लोगों ने उपायुक्त कार्यालय के समक्ष धरना दिया. इसका नेतृत्व फणीभूषण महतो ने किया. इस मौके पर राष्ट्रपति के नाम संबोधित एक 19 सूत्री ज्ञापन भी सौंपा. ज्ञापन कुड़मियों को आदिवासी सूची में अविलंब शामिल करने, कुड़माली भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिंल करने, 1908 सीएनटी एक्ट व 1855, 1949 एसपीटी एक्ट को सख्ती से लागू करने, 2010 के सामाजिक, आर्थिक जातीय जनगणा के आधार पर जो जाति अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति व अन्य उसकी जाति सूची उपलब्ध कराने, केंद्र व राज्य सरकार का भूमि अधिग्रहण बिल वापस लेने, कुड़मी आदिवासी-मूलवासी के लिए झारखंड सरकार के अंतर्गत सरकारी ठेकेदारी मं 80 प्रतिशत आरक्षण प्रावधान करने, 1932 के सर्वे में जो जमीन आदिवासी मूलवासी व कुड़मी (महतो) के नाम पर रैयत भूमिक अंकित था, उसे भूमिक को लैंड बैंक के दायरे से बाहर रखने, लुआबासा पंचायत के अंतर्गत खैरबनी मौजा में कचरा प्रबंधन संयंत्र का निर्माण हो रहा है, उस पर रोक लगाने, वन अधिनियम 1927 के आधार पर जो धारा 38 संशोधित वन अधिनियम 2006 के तहत जिस वन भूमि का पट्टा राज्य सरकार द्वारा दिया जा रहा है, उसके तहत झारखंड के सभी आदिवासी – मूलवासी व कुड़मी (महतो) को भी वन भूमि का पट्टा दिये जाने, दलमा इको सेंसेटिव जोन पर आदिवासी मूलवासी व कुड़मियों (महतो) के गांवों को उजड़ने नहीं दिये जाने, खाद्य सुरक्षा अधिनियम के आधार पर झारखंड प्रदेश के सभी शहर व ग्राम वासी को उसके नियमों के दायरे में रखने, कुड़माली शिक्षक की बहाली, कुड़मी छात्र-छात्राओं को स्कूल-कॉलेज में छात्रवृत्ति, कुड़माली भाषियों के लिए कुड़माली भाषा अकादमी का निर्माण, सरकारी जमीन चिह्नित कर जिले के मुख्य स्थान कुड़मी भवन का निर्माण, झारखंड से बाहर घुसपैठियों को हटाने व स्थानीय मजदूरों को 100 फीसदी रोजगार देने, टीआरआई कमेटी कुड़मियों को भी स्थान दोने, कुड़माली भाषा-संस्कृति के विकास के लिए क्लचरल एकाडेमी का गठन करने, 28 मई को कुड़मी आंदोलन कराईकेला के आंदोलनकारियों को जेल से बिना शर्त रिहा करने संबंधी मांग की गयी है.

धरना में मुख्य रूप से प्रणव महतो, चंद्रशेखर महतो, भवतारण महतो, प्रकाश महतो, दिलीप महतो, राजेश महतो, नेपाल महतो, कंचन महतो, गणेश महतो समेत दर्जनों लोग शामिल थे.

Local AD

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More