जमशेदपुर -वीमेंस कॉलेज में हुआ विश्व स्तनपान सप्ताह पर वेबिनार

0

जमशेदपुर।
वीमेंस कॉलेज में शनिवार को पूर्वाह्न 11.30 बजे विश्व स्तनपान सप्ताह का शुभारंभ गूगल मीट ऐप्लीकेशन के मार्फत आयोजित वेबिनार से हुआ। वेबिनार का उद्घाटन करते हुए प्राचार्या प्रो डॉ शुक्ला महांती ने कहा कि माँ का दूध शिशु के लिए रक्षा कवच के समान है। यह शिशु के प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत बनाता है। यह पौष्टिक, सुपाच्य, स्वास्थ्यवर्धक और सर्वतः उपयोगी होता है। यह सामाजिक दायित्व है कि माताओं और भविष्य की माताओं में स्तनपान को लेकर पूरी जागरूकता हो। वेबिनार में मुख्य वक्ता एमजीएम काॅलेज की एनाॅटामी विभाग की प्राध्यापक डॉ विनीता सहाय ने कहा कि स्तनपान कराने से शिशु सहित माँ को भी स्वास्थ्यगत लाभ होते हैं। माँ का वजन नियंत्रित होता है, गर्भाशय पूर्व अवस्था में लौटता है और स्तन में संक्रमण का खतरा नहीं रहता। माताओं को लेटकर स्तनपान नहीं कराना चाहिए। एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि स्तनपान छुड़ाने वाली दवा का इस्तेमाल यदि बहुत जरूरी हो तभी करना चाहिए लेकिन शिशु की आयु दो वर्ष से कम न हो। दूसरी वक्ता गुड़गांव के मेदांता अस्पताल में पेडियाट्रिक हिमैटोओंकोलाॅजी व बोनमैरो ट्रांसप्लांट विभाग की फेलो डॉ उपासना अय्यर ने पीपीटी के माध्यम से स्तनपान के फायदों पर रोशनी डाली। उन्होंने बताया कि अभी तक कहीं भी माँ के दूध में कोविड 19 के संक्रमण या उस दूध से शिशु में संक्रमण नहीं देखा गया है। यह सुरक्षित है। इसलिए कोरोना संक्रमित माँ भी शिशु को बिना भय के दूध पिला सकती है। यह शिशु में एंटीबाॅडी ट्रांसफर करके उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। यदि माता को गंभीर स्वास्थ्य समस्या है तो वह कटोरी चम्मच के माध्यम से शिशु को अपना दूध पिला सकती है। साबुन से हाथ धोना, मास्क पहनना और किसी भी सतह को छूने से पहले विसंक्रमित करना- इन तीन उपायों से स्वस्थ स्तनपान कराया जाना चाहिए। गृह विज्ञान विभाग की शिक्षिका डाॅ डी पुष्पलता ने कहा कि पूरे सप्ताह क्विज़, स्लोगन, भाषण व अन्य गतिविधियां आयोजित होंगी। धन्यवाद ज्ञापन आयोजन सचिव गृह विज्ञान विभाग की अध्यक्ष व सीएनडी विभाग की समन्वयक डॉ रमा सुब्रमण्यम ने दिया। वेबिनार के दौरान शिक्षिका संचिता गुहा सहित 150 प्रतिभागियों ने ऑनलाइन शिरकत की। तकनीकी समन्वयन के. प्रभाकर ने किया।

मेंटरशिप कार्यक्रम का तीसरा सत्र संपन्न

वीमेंस कॉलेज में छात्राओं को रोजगार प्राप्ति में मार्गदर्शन के लिए चल रहे ऑनलाइन मेंटरशिप कार्यक्रम का तीसरा सत्र आज संपन्न हुआ। प्राचार्या प्रो डॉ शुक्ला महांती ने बताया कि आज लिंक्डइन यूएस खी प्रोडक्ट मैनेजर ग्रेटा मलाज और नाईकी इंक की साॅफ्टवेयर इंजीनियर सुश्री लिप्सी झा ने फेसबुक, लिंक्डइन, ट्विटर व यूट्यूब जैसे डिजिटल प्लेटफार्म की अहमियत बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि ये माध्यम रोज़गार दिलाने के बड़े स्रोत हैं। इनके उपयोग के तरीकों के बारे में भी विस्तार से बताया गया। सभी वीडियो लेक्चर काॅलेज की वेबसाइट पर उपलब्ध करा दिये जा रहे हैं। कार्यक्रम में प्लेसमेंट समन्वयक डॉ रत्ना मित्रा व प्लेसमेंट अधिकारी स्वाति अग्रवाल उपस्थित रहीं। अगले शनिवार को आखिरी सत्र है जिसमें इनोवेशन एण्ड एंटरप्रेन्योरशिप पर चर्चा की जाएगी।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More