जमशेदपुर-समाधान फ़िर कराएगा जरुरतमंद कन्याओं का सामूहिक-विवाह

25

जमशेदपुर।

सामाजिक संस्था “समाधान” पुनः एक बार फ़िर जरुरतमंदों के सामूहिक विवाह कराने की तैयारियों में जुट गयी है | बेटी-बचाओ-अभियान से प्रेरित समाधान ने बीते वर्ष 2015 में संस्था ने ग्यारह जरूरतमंद जोड़ों का भव्य और शाही इंतेज़ाम से विवाह रचाकर शहर के इतिहास में अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज कराने के संग गरीबों के मसीहा के रूप में उभर कर सामने आई थी जो दिन-प्रतिदिन अपने निष्ठा और सेवा भाव से समाजसेवा की नई परिभाषा गढ़ रहीहै | बीते वर्ष की हीं तरह इस बार भी समाधान ने सामूहिक विवाह की तैयारियां शुरू कर दी है | संस्था द्वारा बुधवार पूर्वाह्न 12:00 बजेसाकची स्थित होटल जेके रेसीडेसी में संवाददाता-सम्मलेन आयोजित कर इसकीजानकारी प्रस्तुत की गयी | इस दौरान समाधान के मुख्य-संरक्षक श्दनेश कुमार ने जानकारी साझा करने के क्रम में बताया की आगामी दिसम्बर महीने के प्रथम सप्ताह में समाधान द्वारा जरुरतमंद कन्याओं का सामूहिक-विवाह करानेल का निर्णय लिया गया है | बताया गया की पिछले बार हुए ग्यारह कन्याओं के सामूहिक विवाह में इस वर्ष जोड़ों की संख्या बढ़ाकर पंद्रह कर दी गयी है
ताकि ज्यादा लोगों को इस अभियान का लाभ मिल सके | इसके लिए इक्षुकजरुरतमंद तबके के लोगों को संस्था द्वारा तय पंजीकरण एवं नियम-शर्तों केमानकों को पूरा करना होगा | बताया गया की आगामी 1अगस्त,2016 से पंजीकरणप्रक्रिया प्रारंभ की जायेगी जो 30सितम्बर तक चलेगी | इस हेतु दिनांक
01/08/16 से 30/09/16 तक 134,न्यू बाराद्वारी स्थित समाधान कार्यालय मेंसंपर्क किया जा सकता है अथवा हेल्पलाइन नंबर 9431117457 एवं 7859091288पर संपर्क स्थापित कर संबंधित अभियान की बेहतर जानकारी ली जा सकती है |इच्छुक जोड़ों को पंजीकरण फॉर्म निःशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा | श्री दिनेशने आगे बताया की समाधान के इस सामूहिक विवाह समारोह को जाती-धर्म कीभावनाओं से परे रखा गया है | हमारा लक्ष्य जरुरतमंदों को सेवा है , फ़िरचाहे वो किसी भी सामुदाय से हों | यह तय किया है की सामूहिक विवाह का लाभलेने को इच्छुक सभी जाती, धर्म की कन्याओं का विवाह उनके विधि-विधान एवं
परम्परा के अनुरूप कराया जायेगा | इस प्रक्रिया के तहत सर्वप्रथम आवेदकजोड़ों का जमशेदपुर न्यायालय में पंजीकरण कराया जाएगा तत्पश्चात समाधानसम्बंधित जोड़ों का उनके विधि-विधान एवं परम्परा के अनुसार विवाह आयोजितकरवाएगी | बताया गया की विवाह के दौरान दाम्पत्य जीवन गुज़ारने तथा घरबसाने का सारा सामान भी समाधान के द्वारा विवाह के दौरान उपलब्ध कराई जाएगी | इस पुनीत आयोजन के साक्षी बनने हेतु वधु पक्ष एवं वर पक्ष के 25-25 लोगों को सादर आमंत्रित किया जायेगा | इस आयोजन का कारण स्पष्ट करते हुए समाधान की अध्यक्षा पूनम विग ने कहा की “ हमारा प्रयास सामाजिक दायित्व के तहत समाज के अंतिम व्यक्ति को मुख्य-धारा में शामिल करना है तथा आर्थिक समस्याओं के कारण विवाह करने में सक्षम न हो पाने वाले कन्याओं के परिजनों को कुछ हद तक राहत व उनके समस्याओं का समाधान करने का एक छोटा सा प्रयास मात्र है यह आयोजन | विवाह में कोई भी रस्म छूट न  जाए तथा धूम-धाम से विवाह का आयोजन हो इस दिशा में आवेदक जोड़ों के रीति-रिवाज़ से रस्म अदायगी की जायेगी | पिछली बार की तरह हीं वर पक्ष के लिए विवाह के दौरान बैंड-बाज़ा-बारात की और भी भव्य व्यवस्था की जाएगी | जानकारी दी
गयी की पंजीकरण के उपरान्त संस्था अपने स्तर से पड़ताल करेगी | इसके पश्चात हीं शामिल जोड़ों के नामों की घोषणा नवंबर महीनें तक मीडिया एवं सम्बंधित सूचना माध्यमों द्वारा उपलब्ध करा दी जायेगी | अध्यक्ष पूनम विग ने बताया की सामूहिक-विवाह में होने वाले ख़र्च का वहन समाधान परिवार के सदस्य आपस में संग्रह कर करेंगे | इस आयोजन हेतु शहर के इच्छुक सामाजिक, धार्मिक, सांस्कृतिक एवं आर्थिक गतिविधिओं आधारित संस्थाओं को भी सहयोगी  के रूप में शामिल किया जाएगा तथा ज़िले के दूरगामी एवं स्लम क्षेत्रों में सामूहिक-विवाह कार्यक्रम का प्रचार-प्रसार ज़ोरदार एवं व्यापक स्तर से की जाएगी | बताया गया की चयनित वर-वधु का प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजनाके तहत संस्था अपनी ओर से बीमा भी कराएगी | सामूहिक विवाह के दौरान वर-वधु को समाधान संस्था के द्वारा घर बसाने एवं बेहतर दाम्पत्य जीवन
गुजारने हेतु पलंग , गद्दा , दो तकिया, दो चादर, दो रजाई, पाँच साड़ी सेट , सफ़ारी सूट , वर-वधु के लिए हाथ घड़ी , टेबल पंखा, एक बड़ा सूटकेस , बर्तन सेट, वर-वधु हेतु फुटवियर , सुहाग का सामान, माँग टिका एवं मंगलसूत्र , इत्यादि सामग्रियां भी उपस्थित कराई जाएगी | बताया गया की इस शाही सामूहिक विवाह समारोह में पंद्रह जोड़ों को आशीष प्रदान करने हेतु झारखंड सरकार के कई दिग्गज मंत्रियों समेत कॉर्पोरेट , कला और खेल जगत से कई गणमान्य अतिथियों के अलावे कई प्रशासनिक पदाधिकारी भी उपस्थित रहेंगे |
सामूहिक विवाह की जानकारी देने के पश्चात बताया गया की बेटी-बचाओ अभियान और नशा-मुक्त झारखंड अभियान को आगे बढ़ाते हुए जन-जागरण के उद्देश्य से शहर के स्कूली बच्चों के बीच निबंध एवं वाद-विवाद प्रतियोगिता भी आयोजित की जायेगी ताकि बच्चों के माध्यम से हर घर तक संबंधित विषय के प्रति लोग
सजग और जागरूक बनें | इससे कई मायनें में घरेलू हिंसा और महिला उत्पीड़न के मामलों में कमी भी होगी | बताया गया की इस अभियान को शुरू करने हेतु अगस्त महीने से तैयारियां प्रारंभ कर दी जायेगी और स्कूली छात्रों को आमंत्रित कर प्रतियोगिता में शामिल कराया जायेगा | संस्था की ओर से बताया गया की बीते दिनों गो-ग्रीन जमशेदपुर अभियान के तहत हुए वृक्षारोपण अभियान में समाधान द्वारा लगाए गए वृक्षों को सुरक्षित रखने हेतु संस्था द्वारा अगस्त माह के 10 से 16 तारिख तक “ रक्षा अभियान ” चलायी जायेगी | इसके तहत संस्था द्वारा हुए वृहत पौधारोपण में लगाए गये पौदों को रक्षाबंधन बांधकर उनके रक्षा का संकल्प ले दीर्घायु की कामना की जाएगी | मौके पर संस्था की ओर से बताया गया की आगामी दिनों में समाधान एक गाँव को
गोद लेगी , और वहां के लोगों के उत्थान हेतु साड़ी मूलभूत सुविधाओं को उपलब्ध कराने की प्राथमिकताओं पर बल दिया जाएगा | साकची स्थित होटल में आयोजित प्रेस-वार्ता में मुख्यरूप से समाधान के संरक्षक दिनेश कुमार, अध्यक्ष पूनम विग , कोषाध्यक्ष कुलजीत सदाना ,  पूनम साहू , किरण शॉ ,आदी उपस्थित रहें |

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More