शेखपुरा-भाकपा माले का 11 जुलाई को टॉपर घोटाले की न्यायिक जांच को लेकर बिहार बन्द का शेखपुरा जिला में भी बन्द का मिला जुला असर रहा

शेखपुरा .ललन कुमार । भाकपा माले का 11 जुलाई को टॉपर घोटाले की न्यायिक जांच को लेकर बिहार बन्द का शेखपुरा जिला में भी बन्द का मिला जुला असर रहा ।भाकपा माले के बिहार बन्द के आह्वान पर भाकपा माले के कार्यकर्ताओं ने पुरे शहर में विरोध मार्च निकाला ।इस मार्च का नेतृत्व भाकपा माले का नगर सचिव कमलेश कुमार मानव द्वारा किया गया।इस मौके पर कमलेश कुमार मानव ने  बिहार सरकार पर बिहार की शिक्षा व्यवस्था को चौपट करने का आरोप लगाते हुए कहा कि पहले लोग बिहार की शिक्षा व्यवस्था और उसकी डिग्री को बड़ा एहतराम करते थे ।मेरिटोरियस कहकर सम्मानित करते थे ।लेकिन टॉपर घोटाले ने बिहार सरकार की डपोर शंखी शिक्षा विकास नीति की पोल खोल कर रख दी है ।अब बिहार की डिग्री को लोग मजाक उड़ाने लगे हैं ।बिहार सरकार की कोई ठोस शिक्षा नीति नहीं रहने के चलते निर्दोष विद्यार्थी भी इसका शिकार हो रहे हैं ।केवल सरकार वाहवाही लूटने में मस्त है ।दरअसल अब सत्ता का तीन केंद्र बना हुआ है ।नीतीश जी लाचार बन गए हैं ।माफिया उनपर भारी पड़ रहा है ।बिहार उनसे संभल नहीं रहा है ।चले हैं प्रधान मंत्री का सपना देखने ।नीतीश जी पहले बिहार दुरुस्त कीजिए ।लालू जी के झांसे में मत आइये  ।उनके जंगल राज वाला लक्षण बिहार आने मत दीजिए ।तभी बिहार आगे बढ़ेगा ।रसातल से बिहार को निकाले हैं तो उसे बचाइए ।नहीं तो जनता सब देख रही है ।वह दुबारा माफ़ करने वाली नही है ।माले कार्यकर्ताओं में कमलेश प्रसाद,राजेश राय,सुबेलाल,सदन रजक,बाली रविदास,छोटेलाल मांझी समेत अन्य कार्यकर्ता बन्द के दौरान शामिल थे ।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More