मानगो से लापता व्यावसायी का अब तक कोई पता नही,पुलिस जांच में जुटी

 

परिजनो को अपहरण की आंशका

संवाददाता,जमशेदपुर,31 दिसबंर

जमशेदपुर के मानगो थाना एरिया स्थित पोस्ट ऑफिस रोड निवासी व्यावसायी भगवान दास गुप्ता की कोई जानकारी नहीं मिल सकी है. पुलिस कई टीम बनाकर अलग-अलग बिंदुओं पर मामले की जांच कर रही है, लेकिन अब तक उनके गायब होने के राज पर से परदा नहीं उठ सका है.

 

जांच के लिए जिला से बाहर गई है टीम

एसएसपी अमोल वी होमकर ने बताया कि मामले की जांच के लिए पुलिस की टीम बनायी गई है, जो अलग-अलग बिंदुओं पर मामले की जांच कर रही है. उन्होंने कहा कि मामले की जांच के लिए पुलिस की एक टीम जिला से बाहर भी भेजी गई है.

 

ऑफिस में मारपीट के संबंध में ली गई जानकारी

भगवान दास गुप्ता की ऑफिस में कुछ युवकों द्वारा मारपीट की गई थी और अकाउंटेंट को घायल कर दिया गया था. इस मामले में पुलिस ने घायल अकाउंटेंट से भी पूछताछ की. घटना 27 दिसंबर की है, लेकिन इस संबंध में पुलिस को कोई जानकारी नहीं दी गई थी.

 

क्या है मामला, अनसुलझी है गुत्थी

घटना के कारणों की पूरी जानकारी से पुलिस ने इंकार किया. पुलिस का कहना है कि घटना के संबंध में स्पष्ट जानकारी नहीं मिल सकी है कि आखिर इसका कारण क्या है. भगवान दास का अपहरण हुआ है या फिर वे खुद ही कहीं चले गए हैं, इस संबंध में पुलिस कुछ भी स्पष्ट रुप से नहीं कह पा रही है. पुलिस का कहना है कि मामले की जांच के बाद ही पूरी घटना का खुलासा हो सकेगा.

 

मानगो थाना एरिया स्थित पोस्ट ऑफिस रोड निवासी व्यावसायी बीती रात से लापता है. उनके परिवार वालो ने उनके अपहरण की आशंका जतायी है. घटना की जानकारी पुलिस को दे दी गई है और पुलिस ने मामले की जांच भी शुरू कर दी है. मामले की जानकारी मिलते ही जमशेदपुर पश्चिम के भाजपा विधायक सरयू राय उनके घर पहुंचे व मामले की जानकारी ली. उन्होंने सीनियर एस पी  से मामले में कार्रवाई करने को भी कहा.

 

लावारिस हालत में मिली स्कूटी              

भगवान दास गुप्ता (52) बीती रात अपनी स्कूटी से घर से निकले थे, लेकिन वापस नहीं लौटे. देर रात उनकी स्कूटी मानगो थाना एरिया स्थित मनोकामनेश्वर मंदिर के पास से लावारिस हालत में बरामद की गई. घटना के संबंध में भगवान दास की पत्नी रेणुका गुप्ता ने बताया कि उनके पति रोज की तरह सोमवार की शाम लगभग 6.30 बजे घर से साकची जाने की बात कहकर स्कूटी से निकले थे. वे रात 9 बजे तक वापस आ जाते थे, लेकिन रात 9.30 बजे तक जब वे वापस नहीं लौटे तो उनके मोबाइल पर कॉल किया गया, लेकिन वह स्वीच ऑफ मिला, जबकि दूसरा मोबाइल नॉट रिचेबल था.

 

ड्राइवर ने रात में देखा था आकाशगंगा अपार्टमेंट के पास

घबराकर उन्होंने अपने बेटे अजय गुप्ता को देखने के लिए भेजा. इसके बाद उन्होंने कार ड्राइवर युसूफ से बात तो उसने बताया कि उसने शाम लगभग 7.30 बजे उन्हें मानगो आकाश गंगा अपार्टमेंट के पास देखा था. उसने उनसे पूछा भी कि वे यहां क्या कर रहे हैं, इसपर उन्होंने कहा कि वे जमील से मिलने के लिए खड़े हैं, लेकिन जमील से पूछने पर उसने बताया कि उसकी भगवान दास से मुलाकात नहीं हुई है. इसके बाद भगवान दास के दोस्त से पूछा गया तो उसने बताया कि उन्होंने सोमवार को दुकान ही नहीं खोला था.

 

करीबी लोगों की ओर भी घूम रही है शक की सूई

काफी खोजबीन के पास जब भगवान दास का कुछ पता नहीं चला तो इसकी सूचना मानगो पुलिस को दी गई. मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस एक्टिव हुई और उनकी तलाश में जुट गई. पुलिस  अपहरण के एंगल से भी मामले को खंगाल रही है, हालांकि मंगलवार देर शाम तक परिवारवालो से पैसों की मांग नहीं की गई है. पुलिस व्यावसायी के करीबी लोगों पर भी नजर रखे हुए है. जानकारी के मुताबिक भगवान दास का एक ड्राइवर शहजाद दो दिन से काम पर नहीं आ रहा था, लेकिन सोमवार को वह घर में दूध देकर गया और मंगलवार को भी वह घर के बाहर दिखा था.

 

शनिवार को कुछ युवकों से ऑफिस में हुई थी बकझक

जानकारी के मुताबिक भगवान दास का ऑफिस आकाश गंगा अपार्टमेंट में है. अंतिम शनिवार को उनके ऑफिस में बाइक सवार दो युवक आए थे. उस वक्त आफिस में अकाउंटेट व अन्य स्टाफ थे. युवकों ने भगवान दास का नंबर मांगा. स्टाफ ने उनका जो नंबर दिया वह स्वीच ऑफ था. इसपर युवकों ने दूसरा नंबर मांग तो स्टाफ ने दूसरा नंबर होने से इंकार किया. इसपर युवकों ने वहां मारपीट की व अकाउंटेंट पर कुर्सी से हमला कर दिया. घटना में उन युवकों का हाथ होने की भी आशंका जतायी जा रही है.

 

 

 

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More