जमशेदपुर-रिपब्लिकन पार्टी ने मोबाईल टावर हटाने की मांग की, धमकी दी

29

 

21 जून तक टावर नहीं हटा, तो आमरण अनशन किया जायेगा

संवाददाता

जमशेदपुरः रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया ने एक बयान जारी कर गदड़ा स्थित अमरेश कुमार सिन्हा, होल्डिंग नंबर 93 निवासी द्वारा गदड़ा शिव मंदिर स्थित अंशु देवी के निवास स्थल से सटा कर दो मोबाइल टावर लगा दिये जाने से अंशु देवी के मकान की दीवार दरक गयी है. पार्टी की प्रदेश महासचिव हेमा घोष ने उपरोक्त जानकारी देते हुए मीडियाकर्मियों को बताया कि उक्त स्थान से टावर नहीं हटाया गया, तो आगामी 21 जून 2015 से आमरण को बाध्य होंगी, श्रीमती घोष का कहना था कि टावर निर्माण के वक्त भी स्थानीय ग्रामीणों ने काफी विरोध किया तथा इसकी लिखित शिकायत स्थानीय प्रशासन को भी दी थी,लेकिन प्रशासन ने इस दिशा में अनदेखी कर दी, जिससे टावर लगा दिया गया. ये टावर टाटा इंडिकॉम व रिलायंस कंपनी की है. साथ ही इसका जेनरेटर भी लगा हुआ है. श्रीमती घोष का कहना है कि टावर के कारण दीवार टूट जाने से अंशु देवी का मानसिक संतुलन बिगड़ गया है. काफी इलाज कराने पड़ रहे हैं. जेनरेटर से आवाज भी अधिक होती है, जो स्थानीय लोगों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है. ज्यादा कंपन भी होती है, जिससे आसपास की  दीवारों पर भी असर पड़ रहा है. श्रीमती घोष ने जानकारी दी कि सामाजिक संस्था ने भी इस संबंध में उपायुक्त को पत्र लिखा था कि कार्रवाई की जाये, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गयी. श्रीमती घोष ने कहा कि उन्होंने भी अपने स्तर से विगत 10.2. 2015 को पत्र लिखा था, जिस पर भी कार्रवाई नहीं की गयी, जिससे लोगों में काफी आक्रोश है. श्रीमती घोष का कहना था कि बार-बार प्रशासन से आरजू-मिन्नत करने के बाद भी सुनवाई नहीं हो रही है, तो उनके पास एकमात्र सहारा आमरण अनशन का ही रह गया है. इस मौके पर कविता रानी दास, मुक्ति बरुआ, रानी बेलदार, कंचन पात्रो समेत कई लोग थे.

श्रीमती घोष ने पुनः इसकी जानकारी वरीय पुलिस अधीक्षक, धालभूम अनुमंडल पदाधिकारी व अंचल पदाधिकारी, जमशेदपुर को भी दे दी है

Local AD

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More