चेयरमैन, टाटा सन्स एवं चेयरमैन, निप्पन स्टील ऐंड सुमितोमो मेटल कॉर्पोरेशन ने जेसीएपीसीपीएल की कन्टिन्यूअस अनीलिंग ऐंड प्रोसेसिंग लाइन का उद्घाटन किया

46

~ भारत की पहली कन्टिन्यूअस अनीलिंग ऐंड प्रोसेसिंग लाइन~

रवि कुमार झा,जमशेदपुर, 1 सितंबर
जमशेदपुर कन्टिन्यूअस अनीलिंग ऐंड प्रोसेसिंग कंपनी प्राईवेट लिमिटेड (जेसीएपीसीपीएल) की 6,00,000 टन प्रतिवर्ष की क्षमता से युक्त कन्टीन्यूअस अनीलिंग ऐंड प्रोसेसिंग लाइन का आज टाटा स्टील के जमशेदपुर वर्क्स स्थित स्टीलेनियम हॉल में उद्घाटन किया गया। टाटा सन्स चेयरमैन साइरस पी मिस्त्री एवं निप्पन स्टील ऐंड सुमितोमो मेटल कॉर्पोरेशन (एनएसएसएमसी) चेयरमैन शोजी मुनियोका ने संयुक्त रूप जमशेदपुर में इस सुविधा का उद्घाटन किया। इस सुविधा का उपयोग “ऑटोमोटिव ग्रेड कन्टिन्यूअस अनील्ड प्रोडक्ट्स” के उत्पादन में किया जाएगा।
इस मौके पर अपने संबोधन में कोलकाता में जापान कन्सुल-जेनरल, काजुमी एंडो ने कहा व्यापार एवं वाणिज्य के क्षेत्र में भारत तथा जापान के बीच बढ़ते सहयोग का जिक्र किया। उन्होंने कहा, “यह सुखद संयोग है कि जेसीएपीसीपीएल की इस सुविधा का औपचारिक रूप से उद्घाटन ऐसे दिन किया जा रहा है, जब भारत के प्रधानमंत्री जापान के प्रधानमंत्री के साथ मुलाकात कर रहे हैं।”

इस मौके पर अपने संबोधन में टाटा सन्स के चेयरमैन साइरस पी मिस्त्री, , ने कहा, “इस लाइन में ऐसे उत्पादों का उत्पादन किया जाएगा, जिनसे भारतीय वाहन उद्योग को काफी मदद मिलेगी।” जेसीएपीसीपीएल गुणवत्ता एवं उत्पादन से उच्च स्तर हासिल करेगा और हमें उम्मीद है कि यह नये कीर्तिमान स्थापित करेगा। मैं शुरुआत से लेकर क्रियान्वयन के चरण तक इस प्रोजेक्ट से जुड़ी रही पूरी प्रोजेक्ट टीम को बधाई देता हूँ।“

अपने संबोधन में एनएसएसएमसी चेयरमैन शोजी मुनियोका ने कहा, “जेसीएपीसीपीएल की स्थापना वाहन उद्योग को हाई ग्रेड कोल्ड रौल्ड स्टील की आपूर्ति करने के उद्देश्य से की गयी है।” मुझे इस बात में कोई संदेह नहीं है कि जेएसीएपीसीपीएल टाटा स्टील एवं निप्पन स्टील की ताकत का पूरा लाभ उठाएगा और ऐसे स्टील की आपूर्ति करेगा, जो ग्राहकों को संतुष्टि प्रदान करे। जेसीएपीसीपीएल के जरिए हम वाहन उद्योग एवं भारत की पूरी अर्थव्यवस्था के विकास में योगदान करेंगे।“

इस अवसर पर टाटा स्टील के प्रंबध निदेशक टी वी नरेन्द्रन, ने कहा, “टाटा स्टील एवं निप्पन स्टील के बीच का संबंध 40 साल पुराना है, यह तकनीकी सहयोग पर आधारित संबंध और साझेदारी है और अब यह एक ऐसी कंपनी में तब्दील हो गयी है, जिसमें दोनों कंपनियों की सर्वश्रेष्ठ खूबियों की झलक मिलेगी। मुझे उम्मीद है कि यह संबंध और गहरा होगा क्योंकि दोनों कंपनियों को वैश्विक बाजार के बारे में पर्याप्त ज्ञान और अनुभव है, इसलिए यह एक विन-विन पार्टनरशिप साबित होगी।“ उन्होंने आगे कहा, “यह भी एक सुखद संयोग है कि आज जब हम इस समारोह में भाग ले रहे हैं, दोनों देशों के प्रधानमंत्री हमारे देशों के बीच आपसी सहयोग को और घनिष्ठ करने हेतु वार्ता कर रहे हैं। ”
इस अवसर पर श्री कजुमी एन्डो, जापान के कन्सुल जेनरल, कोलकाता, श्री टी वी नरेन्द्रन, प्रबंध निदेशक, टाटा स्टील इंडिया एवं साउथ ईस्ट एशिया, श्री कौशिक चटर्जी, ग्रूप एक्जीक्यूटिव डाइरेक्टर (फिनांस ऐंड कॉर्पोरेट), टाटा स्टील के साथ श्री कात्सुहिको ओटा (रिप्रेजेन्टेटिव डाइरेक्टर, एक्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेन्ट, कॉर्पोरेट प्लानिंग, ग्रूप कंपनी प्लानिंग, फिनांस, एनएसएसएमसी), श्री याशुमित्सु साएकी (एमडी, बोर्ड के सदस्य, हेड, फ्लैट प्रोडक्ट्स यूनिट, लीडर, इंडिया सीएपीएल प्रोजेक्ट), श्री ताईसुके नोमूरा (एमडी, निप्पन स्टील एवं सुमितोमो मेटल इंडिया प्राईवेट लिमिटेड, चेयरमैन, जेसीएपीसीपीएल), श्री नाओमी ईशी, एमडी, टोयोटा किर्लोस्कर मोटर्स, श्री पी एन सिंह, अध्यक्ष, टाटा वर्कर्स यूनियन, टाटा स्टील के वरीय अधिकारी तथा टाटा वर्कर्स यूनियन के प्रतिनिधि तथा ग्राहक तथा स्टेकहोल्डर भी उपस्थित थे।
क्या हैं जेसीएपीसीपीएल,
जेसीएपीसीपीएल जो टाटा स्टील इंडिया लिमिटेड एवं एनएसएसएमसी का 51:49 संयुक्त उपक्रम है, ने भारत के पहले कन्टिन्यूअस अनीलिंग एवं प्रोसेसिंग लाइन की स्थापना की है। यह लाइन विशेष रूप से वाहन उद्योग के लिए प्रतिवर्ष 600,000 टन हाई-क्वालिटी कोल्ड रौल्ड शीट्स, जिनमें आउटर पैनेल एवं हाई टेन्साइल शीट्स भी शामिल हैं, का उत्पादन करेगी। जहाँ टाटा स्टील ने इस प्रोजेक्ट के लिए अवसंरचना विकसित की है, वहीं एनएसएसएमसी ने उपकरण एवं उच्च तकनीक से युक्त प्रोद्योगिकी उपलब्ध करायी है। इस प्रोजेक्ट की स्थापना 2,750 करोड़ रु. के पूंजी निवेश से की गयी है। जेसीएपीसीपीएल टाटा स्टील से स्टील खरीदेगा। भारतीय बाजार में ऑटोमोटिव स्टील्स के क्षेत्र में वर्तमान में टाटा स्टील की हिस्सेदारी 42 प्रतिशत है। यह उम्मीद की जाती है कि इस संयुक्त उपक्रम के जरिए टाटा स्टील एवं एनएसएसएमसी भारतीय वाहन उद्योग की हाई-ग्रेड, हाई-क्वालिटी ऑटोमोटिव स्टील शीट्स की बढ़ती माँग को पूरा करने में सक्षम होंगे।

Local AD

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More