टाटा स्टील में विश्व पर्यावरण दिवस 2014 मनाया

56

तीन दिवसीय अभियान की शुरुआत हुई
सभी लोकेशनों में काफी संख्या में वृक्षारोपण एवं जागरुकता कार्यक्रमों का आयोजन

संवाददाता।जमशेदपुर, 5 जून, 2014:
टाटा स्टील, देश की अग्रणी इस्पात कंपनी, पर्यावरण संरक्षण के महत्व को बखूबी जानती है और कंपनी ने इस महत्वपूर्ण मुद्दे को समर्थन देते हुए विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया। इस वर्ष विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर टाटा स्टील ने अपने डिवीजनों में पर्यावरण संरक्षण, उसकी देखभाल और पर्यावरण के प्रति सजग विकास के संदर्भ में जागरुकता के प्रसार हेतु अनेक गतिविधियों का आयोजन किया। जमशेदपुर में, इसके सभी डिवीजनों में विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया साथ ही विभागों जैसे इंफ्रास्ट्रक्चर प्लांनिंग ऐंड डेवलपमेंट, इंजीनियरिंग ऐंड प्रोजेक्ट्स, इन्वायर्न मेंट मैनेजमेंट और अर्बन सर्विसेज ने अनेक गतिविधियों में हिस्सा लिया। आज से शुरु हुए तीन दिवसीय कार्यक्रम की शुरुआत पर्यावरण अभियान के साथ हुई। अपने आपरेशंस को पर्यावरण के ज्यादा अनुकूल बनाने के लिए कई परिचर्चा एवं जागरुकता सत्रों का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत स्टीलेनियम हाॅल मंा श्री बी के दास, वीपी, कोक, सिंटर ऐंड आयरन के स्वागत संबोधन के साथ हुई और उसके बाद पर्यावरण संबंधी सर्वश्रेष्ठ अभ्यासों पर आधारित ई-बुक, आॅनलाइन इंटरनल ईएचएसएमएस (पर्यावरण, स्वास्थ्य और सुरक्षा प्रबंधन प्रणाली), जीडीसीएस के माध्यम से एक आडिट सिस्टम का उद्घाटन किया गया। विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में अपने विचार व्यक्त करते हुए श्री आनंद सेन, प्रेसिडेंट, टीक्यूएम ऐंड स्टील बिजनेस, टाटा स्टील ने पर्यावरण विभाग को बधाई दीं और कहा कि पर्यावरण दिवस महज एक दिवसीय कार्यक्रम नहीं है, बल्कि यह एक सतत प्रयास है। हमें वक्र्स तथा शहर के भीतर सर्वश्रेष्ठ अभ्यासों का क्रियान्वयन सुनिश्चित करना होगा, जिसे महज तकनीकी हस्तक्षेप से नहीं बल्कि प्रतिबद्धता और विश्वास से हासिल किया जा सकता है। ये सभी पहल दिल से किये जाने चाहिए, ना कि पैसे या मजबूरीवश। उन्होंने यह भी कहा कि हमें ऐसे मुकाम पर पहुंचना है जहां हम भविष्य के लिए एक सकारात्मक छवि का सृजन कर सकते हैं। उन्होंने पर्यावरण विभाग से अन ुरोध किया कि वे मौजूदा परिदृश्य से और आगे जायें और वृहद स्तर पर पर्यावरण के लिए काम करें।
सभा को संबोधित करते हुए विशिष्ट अतिथि पी एन सिंह, अध्यक्ष, टाटा वर्क र्स यूनियन ने कहा कि यह प्रत्येक व्यक्ति और कार्पोरेट घराने का कर्त व्य है कि वे पर्यावरण संरक्षण की दिशा मॆं काम करॆं और इसे हासिल करने की दिशा में सचेत कदम उठाएं। समारोह के दौरान आनलाइन इन्वायर्न मेंट क्विज तथा पर्यावरण पर आधारित सर्वश्रेष्ठ अभ्यास प्रतियोगिता के विजेताओं को सम्मानित किया गया। एस के पति, चीफ, इन्वायर्नमेंट मैनेजमेंट ने धन्यवाद ज्ञापन किया। दूसरे सत्र मजीडीसीएस के माध्यम से ऑनलाइन इंटरनल ईएचएसएमएस ऑडिट सिस्टम पर चर्चा की गयी और उसके बाद वायु एवं जल प्रदूषण मानकों की निगरानी एवं इसके प्रबंधन पर आधारित नवीनतम तकनीकों पर चर्चा हुई। अर्बन सर्विसेज डिपार्ट मेंट ने अपने सामुदायिक केन्द्रों एवं बस्तियों में पर्यावरण संबंधी मुद्दों के प्रति जागरुकता के प्रसार के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया। पूर्वी क्षेत्र मॆं कार्यक्रम की शुरुआत काशीडीह सामुदायिक केन्द्र से मुख्य अतिथि अर्जुन पुरस्कार विजेता बगीचा सिंह, सीनियर कोच एथलेटिक्स, स्पोट्र्स, टाटा स्टील के द्वारा पर्यावरण जागरुकता रैली ‘‘स्वच्छ एवं हरित धरती’’ के साथ हुई वहीं पश्चिमी क्षेत्र में कार्यक्रम का नेतृत्व धतकीडीह सामुदायिक केन्द्र से कृष्णनंदन, चीफ, कॉर्पोरेट रिलेशंस, टाटा स्टील ने किया। रैली के बाद धतकीडीह सामुदायिक केन्द्र में एक सिंट ऐंड ड्रॉ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें करीब 200 बच्चों ने हिस्सा लिया। जमशेदपुर स्कूल ऑफ आर्ट के कृष्णा महतो और जशपाल सिंह तथा सुधांशु कुमार, चीफ, टाउन इंफ्रास्ट्रक्चर ऐंड लाॅजिस्टिक्स ने प्रतियोगिता के निर्णायक की भूमिका निभायी। इंफ्रास्ट्रक्चर ऐंड प्लानि ंग डिपार्टमेंट द्वारा वक्र्स के अंदर लाइम प्लांट और रॉमेटेरियल मैनेजमेंट आफिस के बीच वृहद पैमाने पर वृक्षारोपण की योजना बनाई गई, जिसके तहत इस तीन दिवसीय अभियान के दौरान इस क्षेत्र में 500 पौधे लगाए जायेंगे, इंजीनियरिंग ऐंड प्रोजेक्ट्स डिपार्टमेंट द्वारा जुगसलाई मकडम्प में 150 पौधे लगाये गये और अर्बन सर्विसेज द्वारा इसके आर डी भट्टा सामुदायिक केन्द्र में 20 पौधे लगाये गये।

Local AD

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More